कांग्रेस के पिछड़े वर्ग के नेता बगावत के मार्ग पर आनंदपुर साहिब से तिवाड़ी को टिकट का विरोध


जालन्धर, 12 अप्रैल (मेजर सिंह): कांग्रेस के पिछड़े वर्ग के नेताओं की कार्यकारिणी कमेटी ने आनंदपुर साहिब क्षेत्र से स्थानीय नेताओं की भावनाओं को ठुकराते हुए मनीष तिवाड़ी को उम्मीदवार बनाए जाने का कड़ा विरोध करते हुए कहा कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ व पंजाब प्रभारी आशा कुमारी ने पहले ही दिल्ली के नेता तिवाड़ी को उम्मीदवार बनाए जाने की योजना बना रखी थी और इसी कारण हमारी बात हाईकमान के पास पहुंच नहीं की। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से अपील की कि उक्त दोनों नेताओं को तुरंत पद से अलग किया जाए, यदि यह मांग न मानी गई तो वह मजबूरन आज़ाद उम्मीदवार मैदान में उतारेंगे। पिछड़े वर्ग के कांग्रेस नेताओं की कार्यकारिणी कमेटी के सदस्यों पूर्व सांसद चरनजीत सिंह चन्नी, प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्त राजपाल सिंह, चौधरी आर.पी. सिंह बलाचौर, नवांशहर से सुरजीत सिंह, रोपड़ से हरभजन सिंह सैनी, मोगा से गुरसेवक सिंह, बलविंदर सिंह भिंदा कादियां, पुनीत सिंह सुजानपुर, तीर्थ सिंह बुर्ज नवांशहर, भूपिंदर सिंह गुरदासपुर, हरभजन सिंह वडाली व अनीस सिडाना जलालाबाद के हस्ताक्षरों अधीन जारी बयान में कहा है कि क्षेत्रीय नेताओं को नज़रअंदाज़ कर बाहरी नेता को उम्मीदवार बनाने के विरुद्ध पिछड़े  वर्ग के लोगों में व्यापक रोष पाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हमने कई बार प्रदेशाध्यक्ष व केन्द्रीय नेताओं से मिलकर बताया था कि आनंदपुर साहिब क्षेत्र में पिछड़े वर्गों की 33 प्रतिशत के करीब वोट है और पिछले दो दशक से पंजाब में पिछड़े वर्गों को कांग्रेस द्वारा दूर किया जाता रहा है। इसी कारण आनंदपुर साहिब क्षेत्र से पिछड़े वर्ग के नेता को उम्मीदवार बनाकर पूरे पंजाब के पिछड़े वर्गों के लोगों को विश्वास में लिया जाए। उन्होंने कहा कि तिवाड़ी को उम्मीदवार बनाए जाने से न केवल आनंदपुर साहिब क्षेत्र में ही बल्कि पिछड़े वर्गों की अधिक संख्या बारे होशियारपुर, फिरोज़पुर व अन्य क्षेत्रों में ही बुरा प्रभाव पड़ेगा। उक्त नेताओं ने कहा कि पंजाब के पिछड़े वर्ग हमेशा कांग्रेस के साथ खड़े हैं।