श्री हरिमंदिर साहिब से जयकारों की गूंज में अगले पड़ाव के लिए रवाना 'शब्द गुरू यात्रा'


अमृतसर,16 अप्रैल - (जसवंत सिंह जस) - पातशाह श्री गुरू नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व को समर्पित गुरू साहिब जी की शिक्षाओं और शताब्दी समागमों के प्रति संगत में उत्साह पैदा करने के लिए शुरू की गई 'शब्द गुरू यात्रा' श्री हरिमंदिर साहिब में पांच दिन रुकने के बाद आज जयकारों और नगाड़ों की गूंज में अगले पड़ाव के लिए रवाना हो गई। यात्रा के रवाना होने से पहले सिंह साहिब ज्ञानी जगतार सिंह, शिरोमणि कमेटी के मैंबर भाई मनजीत सिंह, मैंबर भाई राजिन्दर सिंह मेहता, हरजाप सिंह सुल्तानविंड, सचिव मनजीत सिंह बाठ, महेन्दर सिंह आहली, बलविन्दर सिंह जौड़ासिंघा, मैनेजर स. जसविन्दर सिंह दीनपुर ने पांच प्यारों और निशानची सिंहों को सिरोपे भेंट किये। इस मौके पर राजिन्दर मोहन सिंह छीना, सुखदेव सिंह भूराकोहना, प्रताप सिंह, कुलविन्दर सिंह रमदास, सुखराज सिंह, इकबाल सिंह प्रमुख समेत अन्य संगत उपस्थित थे। शब्द गुरू यात्रा दौरान संगत गुरू साहिबान के शस्त्रों और वस्त्रों के भी दर्शन कर रही हैं।