भारत द्वारा एल.ओ.सी. पर व्यापार बंद करने के फैसले से पाकिस्तान में  घबराहट


अमृतसर, 22 अप्रैल (सुरेन्द्र कोछड़) : भारत सरकार द्वारा हाल ही में पाकिस्तान के साथ सीमा पर होने वाले सारे कारोबार को रद्द करने के फैसले से पाकिस्तान में घबराहट का माहौल बना हुआ है। इस बारे में पाकिस्तान ने भारत पर आरोप लगाते हुए कहा कि भारत की यह कार्रवाई बेबुनियाद दोषों पर आधारित है। यही नहीं पाकिस्तान ने भारत के उस आरोप को भी खारिज किया है जिस में कहा गया था कि पाकिस्तान में बैठे तस्कर सीमा रेखा व्यापार के रास्ते का इस्तेमाल करके आधुनिक खतरनाक हथियारों, नशीले पदार्थ और जाली करंसी आदि का काला कारोबार चला रहे है। एल.ओ.सी. के रास्ते कारोबार ज़िला बारामुला, सलमाबाद (उड़ी) व ज़िला पुंछ के चक्कण का बाग रास्ते सप्ताह में चार दिन होता है और यह बंटवारा प्रणाली पर आधारित है। इस पर कोई कर नहीं लगाया गया है। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने बयान जारी करके भारत को एकतरफा फैसलों से बचने और मुद्दों पर बात के लिए रचनात्मक तरीके अपनाने की सलाह देते हुए कहा है कि पाकिस्तान भारत की सीमा रेखा के व्यापार को रोकने का एकतरफा फैसले की निंदा करता है। इसके साथ ही एलओसी के गलत इस्तेमाल बारे लगाए दोषों को भी खारिज करता है।