कैप्टन द्वारा गेहूं की खरीद के लिए मापदंडों में ढील देने हेतु प्रधानमंत्री को पत्र


चंडीगढ़, 22 अप्रैल (अजीत ब्यूरो): मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने बेमौसमी बारिश के कारण फसल के हुए नुक्सान के मद्देनज़र मौजूदा खरीद सीज़न के दौरान गेहूं की खरीद के लिए तय मापदंडों में ढील दिए जाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखा है। मुख्यमंत्री ने बारिश के कारण गेहूं की गुणवत्ता को हुए नुक्सान का मूल्यांकन करने के लिए विशेषज्ञों की एक टीम को पंजाब दौरे में भेजने के लिए केन्द्रीय उपभोक्ता मामले खाद्य व जनतक वितरण प्रणाली मंत्रालय को निर्देश देने के लिए भी प्रधानमंत्री को कहा है ताकि इस संबंध में संशोधन हुए उचित मापदंड तैयार किये जा सकें। मुख्यमंत्री ने कीमत में बिना किसी कटौती से खरीद मापदंडों में उचित ढील देने के लिए प्रधानमंत्री को अपील की है। प्रदेश में 16 अप्रैल से 18 अप्रैल 2019 तक पड़ी बारिश व तेज़ हवाओं के कारण फसलों के हुए भारी नुक्सान के कारण किसानों को बारिश व तेज़ हवाओं के कारण फसलों के हुए भारी नुक्सान के कारण किसानों को ढाह लगी है। उन्हाेंने कहा कि लगातार बारिश के कारण मार्च महीने के दौरान प्रदेश में तापमान पहले ही कम रहा, जिसके कारण गेहूं की कटाई में देरी हुई। इसके परिणाम स्वरूप मंडियों में भी गेहूं देरी से पहुंचनी शुरू हुई व इसकी खरीद 11 अप्रैल से शुरू हुई। मंडियों में लगभग 3 लाख मीट्रिक टन गेहूं पहुंच चुकी है जोकि पिछले समय से काफी कम है। लेकिन आते दिनों में मंडियों में गेहूं की आमद बढ़ने की संभावना है, परन्तु प्रदेश की मंडियों में आ रही गेहूं की गुणवत्ता एफ.ए.क्यू. (फेयर एवरेज़ क्वालिटी) के मापदंडों के अनुकूल नहीं है। गेहूं के रंग में तबदीली होने, दाना टूटने व नमी की समस्या है। मुख्यमंत्री ने किसानी भाईचारे के हितों के मद्देनज़र गेहूं की निर्विघ्न खरीद को यकीनी बनाने के लिए यह मुद्दा तुरन्त हल करने के लिए प्रधानमंत्री को अपील की।