शिक्षा सचिव पंजाब का नया आदेश : सरकारी स्कूलों में 40 फीसदी विद्यार्थियों को अंग्रेज़ी माध्यम द्वारा दी जाए शिक्षा


संगरूर, 29 अप्रैल (धीरज पशौरिया) : पंजाबियों की मां बोली पंजाबी,  सभ्याचार, विरसे पर लगातर हो रहे हमलों के अधीन हर समय हुक्मराना की यह इच्छा होती है कि कैसे इनसे पंजाबियों को अलग किया जाए। अभी कुछ सप्ताह पहले की बात है कि जब पंजाब में केन्द्रीय विद्यालय के स्कूल चल रहे हैं वहीं पंजाबी को ज़रूरी विषयों को खत्म कर दिया है। अब पंजाब के शिक्षा सचिव ने जो काफी दिनों से सरकारी स्कूलों में दाखिला  बढ़ाने के लिए आदेश जारी करने में लगे हुए है, ने स्कूल प्रमुखों की एक बैठक में नया आदेश जारी किया है कि हर क्लास में कम से कम 40 फीसदी बच्चों को अंग्रेज़ी मीडियम में पढ़ाना ज़रूरी है। इस लक्ष्य को जितना जल्दी हो सके पूरा किया जाए। इस नये आदेश ने जहां अध्यापक खेमे में खलबली वाली स्थिति पैदा कर दी है, वहीं पंजाबी हितैषियों में भी चिंता पैदा कर दी है।नये आदेश के बाद अध्यापक असंमजस में : स्कूलों के प्रमुख तो बेशक नये आदेश लेकर स्कूलों में पहुचं गए है पर ज्यादातर अध्यापक इन नये आदेशों को लेकर असंमजस में है। उनका कहना है कि शुरू से ही पंजाबी भाषा में शिक्षा प्राप्त कर रहे विद्यार्थियों को अब एकदम कैसे अंग्रेज़ी माध्यम में पढ़ाया जा सकता है व कैसे वह अंग्रेज़ी माध्यम समझ सकेंगे। कैसे 40 मिनट के पीरियड में एक अध्यापक दो तरह के विद्यार्थियों को अलग-अलग पढ़ा सकेगा।