अकाली दल द्वारा फिरोज़पुर और बठिंडा हलकों में धांधली की आशंका


जालन्धर, 15 मई (मेजर सिंह) : अकाली दल ने फिरोज़पुर और बठिंडा हलकों में बड़े स्तर पर धांधली और हिंसा करवाए जाने की आशंका जाहिर करते हुए चुनाव आयोग को चौकसी बरतने की अपील की और मांग की है कि दोनों हलकों को संवेदनशील घोषित करके विधानसभा हलके में एक-एक आर्ब्जवर लगाए जाने और वीडियो टीमों की संख्या बढ़ाई जाए। अकाली दल के महासचिव और प्रवक्ता नरेश कुमार गुजराल ने सोमवार को दिल्ली में चुनाव आयोग से मिल कर दोनों हलकों के हालातों से अवगत करवाया। उन्होंने बताया कि कांग्रेस ने अकाली दल को नुक्सान पहुंचाने के लिए बड़े स्तर पर योजनाबंदी की है और वह बादल परिवार के उम्मीदवारों को हरा कर अकाली दल को चोट पहुंचाना चाहते हैं, परन्तु अब ज़मीनी हालत यह है कि फिरोज़पुर और बठिंडा हलकों में अकाली दल के उम्मीदवार स. सुखबीर सिंह बादल और श्रीमती हरसिमरत कौर बादल बड़े अंतर से जीत की तरफ बढ़ रहे हैं और पार्टी उम्मीदवारों की जीत पंजाब में कांग्रेस सरकार के पैर उखाड़ देगी। इस कारण हमें पता लगा है कि कांग्रेस द्वारा अब दोनों हलकों में मतदान वाले दिन धांधली मचाने और हिंसा भड़काने की योजना बनाई जा रही है। अकाली नेता ने आयोग के ध्यान में लाया है कि दोनों हलकों को संवेदनशील घोषित करके हर विधानसभा हलके के लिए आर्ब्जवर लगाया जाए और वीडियो टीमों की संख्या बढ़ाई जाए। चुनाव आयोग ने उनको भरोसा दिया है कि वह सारे मामले पर गौर करेंगे और मतदान वाले दिन रविवार होने के बावजूद सारा दिन कार्यालय में रहेंगे। गुजराल ने कहा कि अगर पंजाब में अकाली दल के कई उम्मीदवार जीत जाते हैं तो कांग्रेस की अंदरूनी गुटबाजी दोबार पनप सकती है। उन्होंने कहा कि गुरदासपुर और पटियाला हलकों में भी कांग्रेस को हार दिखाई देने लगी है, जिस कारण कांग्रेस नेता बौखलाहट में आए हुए हैं। गुजराल ने बताया कि वह दिल्ली में मीडिया को भी अपील करके आए हैं कि वह अपनी अधिक टीमें पंजाब के दो हलकों में भेजें। इसी तरह उन्होंने पंजाब की मीडिया को भी दोनों हलकों में आंखें खुली रखने की अपील की।