आज आएगा इंडिया का फैसला


नई दिल्ली, 22 मई (वार्ता) : सत्रहवीं लोकसभा की 542 सीटों और चार राज्यों की विधानसभाओं के लिए हुये मतदान के बाद गुरुवार को होने वाली मतगणना की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। इस संबंधी सभी आवश्यक दिशा-निर्देश राज्य चुनाव अधिकारियों को दे दिए गए हैं। मतगणना गुरुवार सुबह 8 बजे से होगी। देश भर में बनाए गए मतगणना केंद्रों पर बड़ी संख्या में सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं और मीडिया के लिए भी समाचार संकलन करने के लिए आवश्यक सुविधायें मुहैया कराई गई हैं। आपात स्थिति से निपटने के लिए भी हर तरह के प्रबंध किए गए हैं। मतों की गिनती के लिए चुनाव आयोग द्वारा पहले से निर्धारित नियमों और प्रक्रियाओं का पालन किया जाएगा और इसमें किसी तरह की खामियों तथा गड़बड़यिं को तत्काल दूर करने की भी व्यवस्था की गयी है ताकि मतगणना सुचारु और निर्बाध रूप से चलती रहे। भीषण गर्मी को देखते हुये मतगणना में भाग लेने वाले कर्मचारियों और राजनीतिक दलों के एजेंटों के लिए भी विशेष प्रबंध किए गए हैं ताकि उन्हें किसी तरह की कोई असुविधा न हो। लोकसभा चुनाव के साथ ही चार राज्यों-आंध्र प्रदेश, ओडिशा, अरुणाचल प्रदेश और सिक्किम-की विधानसभा सीटों के लिए 11 अप्रैल से 19 मई के बीच चुनाव कराए गए थे। वीवीपैट पर्ची से वोटों के मिलान और सत्यापन के लिए पांच मतदान केंद्रों को औचक आधार पर चुना जायेगा। वीवीपैट सत्यापन प्रक्रिया में चार से पांच घंटे का समय लग सकता है। चुनाव परिणाम आयोग की वैबसाइट और ‘वोटर हेल्पलाइन ऐप’ पर उपलब्ध होंगे। आयोग ने इस बार के लोकसभा चुनाव के लिए 55 लाख ईवीएम का उपयोग किया है।