एसएचओ से लेकर एसएसपी के कामकाज की होगी समीक्षा


गुरुहरसहाय, 7 जून (कपिल कंधारी): नशे के खिलाफ चल रही जंग में काम कर रहे एसएचओ से लेकर एसएसपी लैवल तक के सभी अधिकारियों के कामकाज की हर महीने समीक्षा होगी, जिसके बाद उनकी परफार्मेंस रिपोर्ट तैयार की जाएगी। संबंधित मुलाजिम या अधिकारी की इस परफार्मेंस रिपोर्ट को ध्यान में रखते हुए ही उसकी सर्विस से संबंधित कई अहम फैसले लिए जाएंगे। नशे के खिलाफ गठित स्पैशल टास्क फोर्स के सीनियर अधिकारी आईजीपी बलकार सिंह ने शुक्रवार को गांव लक्खो के बहराम में नशे की समस्या पर आयोजित जनसभा में लोगों से बातचीत में ये विचार व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि इसके इलावा नशे के कारोबार की सूचना देने वालों को प्रोत्साहित करने के लिए रिवार्ड पॉलिसी भी तैयार की गई है, साथ ही और भी कई अहम बदलाव होने वाले हैं, जिससे इस बुराई के खिलाफ चल रही मुहिंम को बल मिलेगा। उन्होंनें कहा कि पूरे प्रदेश में नशे की ग्रिफ्त में फंसे हुए 70 हज़ार से ज्यादा युवा ईलाज करवा रहे हैं। उन्होंनें बताया कि एम्स की नई रिपोर्ट के मुताबिक पंजाब में करीब सवा 7 लाख युवा नशे की ग्रिफ्त में फंसे हुए हैं, जिन्हें इस बीमारी से मुक्त करवाने के लिए हर संभव कोशिश की जाएगी। इसके तहत ज़मीनी स्तर पर ओट्स सेंटर्स की सेवाओं को बढ़ाया जाऐगा तांकि लोगों की इलाज करवाने में कोई परेशानी न हो। उन्होंने कहा कि नशे की समस्या के खिलाफ तीन-सूत्रीय फॉर्मूले के तहत काम किया जा रहा है। पहला है अवेयरनैस, दूसरा है इनफोर्समेंट और तीसरा है प्रिवेंशन। अवेयरनेस के तहत लोगों में यह जागरूकता लाना है कि नशे से क्या नुकसान होते हैं, जिसके फलस्वरूप लोग खुद आगे आकर नशे का कारोबार करने वालों के खिलाफ शिकायत देने लगे हैं। इनफोर्समेंट के तहत इन नशा तस्करों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई शामिल है, जिसके तहत पूरे राज्य में हजारों की संख्या में तस्करों को पकड़कर जेल भेजा गया है। इसी तरह प्रिवेंशन श्रेणी के तहत स्कूल-कॉलेजों में पढ़ाई करने वाले बच्चों को नशे की पहुंच से दूर रखने के लिए काम हो रहा है। 
इसके लिए स्कूलों में बड्डी ग्रुप बनाए गए हैं, जिसके तहत 40 लाख के करीब बच्चों को कवर किया गया है। उन्होंने कहा कि लोग एसटीएफ के मोबाइल नंबर 7901959595 और 7901939393 पर संपर्क करके इस काले कारोबार के खिलाफ कोई भी जानकारी दे सकते हैं। सूचना देने वाले की पहचान बिल्कुल गुप्त रखी जाएगी। डिप्टी कमिश्नर चंद्र गैंद ने लोगों से नशे के आतंकवाद को खत्म करने की अपील की।