कोटकपूरा गोलीकांड में जांच टीम द्वारा दूसरा चालान पेश


फरीदकोट, 7 जून (अ.स.): कोटकपूरा गोलीकांड में विशेष जांच टीम द्वारा पंजाब पुलिस के पांच वरिष्ठ अधिकारियों व एक पूर्व संसदीय सचिव के विरुद्ध दूसरा चालान अदालत में पेश कर दिया है। जांच टीम ने आई.जी. उमरानंगल, पूर्व एस.एस.पी. चरनजीत शर्मा, एस.पी. बलजीत सिंह सिद्धू, एस.पी. परमजीत सिंह पन्नू व इंस्पैक्टर गुरदीप सिंह पंधेर के विरुद्ध थाना सिटी कोटकपूरा में अगस्त 2018 में आई.पी.सी. की धारा 307, 326, 323, 218, 120-बी व असला एक्ट तहत दर्ज हुए मामले में 70 पेजों का चालान पेश किया है। जांच टीम ने इससे पहले 27 मई को प्रताप सिंह ने चालान पेश करने के बाद दावा किया कि कोटकपूरा गोलीकांड में जो जांच रिपोर्ट (चालान) अदालत में पेश की है वह पूरे सबूतों व तथ्यों के आधार पर पेश हुई है। आई.जी. ने दावा किया कि उनकी यह जांच अंतर्राष्ट्रीय पैमानों की है तथा जो चालान अदालत में पेश किया गया है उसमें केस को कामयाब करने के लिए ज़रूरी गवाह, सबूत, वीडियो, सी.सी.टी.वी. फुटेज व फोरैंसिक साईंस की निष्पक्ष रिपोर्टें भी शामिल हैं। अपनी जांच रिपोर्ट को निष्पक्ष बताते हुए आई.जी. कंवर विजय प्रताप सिंह ने कहा कि उनका उद्देश्य कानून के दायरे में रह कर दोषियों को सज़ा दिलाना है तथा उन्होंने पंजाब सरकार द्वारा सौंपी ज़िम्मेवारी को ईमानदारी से निभाया है। जांच टीम द्वारा अदालत में पेश किए गए चालान के दूसरे भाग की सुनवाई 10 जून पर रखी है। अदालत में पेश किए गए चालान  में कहा गया है कि पूर्व डी.जी.पी. सुमेध सैनी, डी.आई.जी. अमर सिंह चहल के विरुद्ध भी जांच चल रही है तथा शीघ्र ही उनके विरुद्ध भी जांच रिपोर्ट तैयार कर अदालत में पेश की जाएगी।