क्रूड ऑयल बढ़ा : रूबल अंत में चढ़ा


नई दिल्ली, 9 जून (एजेंसी) गत सप्ताह कच्चा तेल अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में फिर करीब डेढ़/दो डॉलर बढ़कर अंत में 54.04 डॉलर प्रति बैरल हो गया। मुद्रा बाजारों में विदेशी मुद्राओं में रूबल मुद्रा, भारतीय रुपये की तुलनात्मक अंतिम सत्र में सुर्ख हो गयी। रुपये के सामने रूस मुद्रा रूबल 1.060 से सप्ताह मध्य तक घटकर 1.05 पर आने के बाद अंतिम सत्र में बढ़त लेकर 1.065 रुपये देखी गयी। वहीं रुपया अमेरिकन डॉलर की अपेक्षा पूरे सप्ताह घट-बढ़ में देखा गया। अंतिम सत्र के कारोबार में 69.47 पर कारोबार करने के बाद बंद होते समय 64.34 प्रति डॉलर पर देखा गया। वहीं पौंड मुद्रा के सापेक्ष रुपया 87.75 से फिसलकर 88.06 प्रति पौंड रह गया। आलोच्य सप्ताह भी कच्चा तेल विदेशों में कमजोर ही बना हुआ था, लेकिन सप्ताह मध्य के बाद बढ़त बनाये रखने से दो-तीन तेल उत्पादक देशों की मुद्राएं रुपये के सामने सुर्ख रहीं, जिसमें रूबल मुद्रा रुपए के सापेक्ष 1.060 से सप्ताह मध्य तक 1.05 पर घट गयी थी, लेकिन अंतिम सत्र में फिर रूबल 1.065 रुपए पर सुर्ख हो गयी। इसके अलावा डॉलर के सापेक्ष भी रूबल मुद्रा मजबूत रही। रूबल मुद्रा उक्त अवधि के अंतराल 65.35 से अंतिम सत्र में बढ़ते हुए 64.92 प्रति डॉलर हो गई। चौतरफा एशियाई व यूरोपीयन देशों की अर्थव्यवस्था कमजोर बनी हुई है। जहां चीन व अमेरिका के बाद अब मैक्सिको के साथ भी टेरिफ वृद्धि कर ‘ट्रेड वार’ शुरू होते हुए जीडीपी में गिरावट से अर्थव्यवस्था और सुस्त पड़ सकती है।