जल स्रोत सम्भाल हेतु इजरायल टीम दद्धाहूर पहुंची, अधिकारियों से चर्चा की


रायकोट, 13 जून (अ.स.): पंजाब में धरती निचले पानी के गिर रहे स्तर की समस्या से निपटने के लिए पंजाब सरकार द्वारा इजरायल की राष्ट्रीय जल एन/एस मैकोरोट कम्पनी के साथ समझौता किया गया है। इस किए समझौते तहत राज्य के जल स्रोतों की सम्भाल व प्रबंधन के लिए वाटर कंजर्वेशन एंड मैनेजमैंट मास्टर प्लान (डब्ल्यू. सी. एम. एम. पी.) तैयार किया जाएगा जिसके तहत इजरायल टीम आज दद्धाहूर पहुंची। वर्णनीय है कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह पिछले दिनों इजरायल के दौरे पर गए थे जिस दौरान उन्होंने इजरायल नैशनल वाटर कम्पनी के साथ राज्य में पानी की सम्भाल व प्रबंधन संबंधी समझौता किया था जिसके तहत यह टीम पंजाब में पानी की गिर रही सतह को बचाने के लिए किसानों व अन्य वर्गों को जागरूक करेगी। वर्णनीय है कि इजरायल विश्व का एक ऐसा देश है जो पानी की बेस्ट का 85 प्रतिशत हिस्सा रीजूज कर प्रयोग में लाता है। पंजाब के पानी को बचाने के लिए मुख्यमंत्री पंजाब का प्रयास प्रशंसनीय है जिससे पंजाब के पानी को बचाया जा सकता है। इस अवसर पर प्रोजैक्ट मैनेजर मिस्टर निवपिंटू इस मुहिम को पंजाब में 18 माह के अंदर-अंदर कामयाब करने के लिए विभिन्न विभागों का योगदान लेंगे। इस अवसर पर इजरायल टीम के प्रतिनिधि मिस्टर बरगर, मिस्टर टोगर 14 जून तक पंजाब के विभिन्न क्षेत्रों में जाकर पानी के स्रोतों की सम्भाल व प्रबंधन संबंधी जायज़ा लेंगे। इस अवसर पर नहरी विभाग के मुख्य इंजीनियर जगमोहन सिंह मान, निगरान इंजीनियर एस.के. सलूजा व निगरान इंजीनियर जसविन्द्र सिंह भंडारी आदि इस इजरायल टीम के साथ शामिल थे।