जापान के राजदूत पहुंचे गुरदासपुर


गुरदासपुर, 18 जून (दीपक कुमार): देश आजाद होने के पश्चात पहली बार सीमावर्ती क्षेत्र ज़िला गुरदासपुर में जापान के राजदूत के.जी. हीरामात्सु की ओर से पूर्व कानून मंत्री अश्विनी के बुलावे पर दौरा किया गया। इस दौरे के दौरान राजदूत के.जी. हीरामात्सु और उनकी पत्नी पेटरिसीआ द्वारा शहर गुरदासपुर के वृद्धाश्रम और आई.टी.आई. (लड़के) का दौरा किया गया। इस अवसर पर ज़िलाधीश विपुल उज्जवल, प्रिंसीपल सचिव तकनीकी शिक्षा व औद्योगिक शिक्षा डी.के. तिवाड़ी, श्रीहरगोबिन्दपुर हलका विधायक बलविंदर सिंह लाडी, एस.डी.एम. दीपक भाटिया, एस.एस. बोर्ड पंजाब के चेयरमैन रमन बहल, एस.एस.पी. स्वर्णदीप सिंह और एडवोकेट सुप्रीम कोर्ट ऑफ इंडिया आशीष कुमार विशेष रूप से उपस्थित हुए। इस अवसर पर सबसे पहले जापान के राजदूत के.जी. हीरामात्सु की ओर से वृद्दाश्रम का दौरा किया। इसके बाद राजदूत के.जी. हीरामात्सु की ओर से गुरदासपुर शहर की आई.टी.आई. (लड़के) का दौरा किया गया जहां आई.टी.आई. की भंगड़ा टीम ने उनका स्वागत किया। इस दौरान के.वी. हीरामात्सु की ओर से आई.टी.आई. में चल रही वर्कशाप का दौरा किया। के.जी. हीरामात्सु ने पंजाब में विद्यार्थियों को तकनीकी शिक्षा में और भी बढ़ावा करने हेतु जापानी कम्पनियों द्वारा तकनीकी शिक्षा का स्तर ऊपर उठाया जाएगा। जापानी कम्पनियों की ओर से पंजाब में इंडस्ट्री लगाई जाएगी। 
एस.एस. बोर्ड के चेयरमैन ने जापान के राजदूत के साथ की मुलाकात : आज सरहदी क्षेत्र में पहली बार पहुंचे जापान के राजदूत केंजी हीरामात्सु के साथ एस.एस. बोर्ड पंजाब के चेयरमैन रमन बहल की ओर से विशेष मुलाकात की गई। इस अवसर पर चेयरमैन रमन बहल द्वारा गुरदासपुर क्षेत्र में आने वाली मुश्किलों के बारे में बताया। 
उन्होंने बताया कि सरहद्दी क्षेत्र गुरदासपुर में न ही कोई बड़ी इंडस्ट्री है तथा न ही तकनीकी शिक्षा का उच्च केन्द्र है।