कोटकपूरा गोलीकांड में एस.पी. सिद्धू ने मांगी ज़मानत


चंडीगढ़, 18 जून (सुरजीत सिंह सत्ती): पंजाब में पवित्र ग्रंथों की बेअदबी की घटनाओं के विरोध में दोषियों विरुद्ध कार्रवाई की मांग को लेकर अक्तूबर 2015 में सिख संगत द्वारा किए गए रोष प्रदर्शन दौरान बरती गई पुलिस सख्ती के कारण आपराधिक मामले में फंसे कोटकपूरा के तत्कालीन डी.एस.पी. व मौजूदा एस.पी. बलजीत सिंह सिद्धू ने पंजाब व हरियाणा हाईकोर्ट में अज़र्ी दाखिल कर अग्रिम ज़मानत की मांग की है। एडवोकेट सतपाल सिंह सिद्धू द्वारा दाखिल अज़र्ी में एस.पी. सिद्धू ने कहा है कि उनके द्वारा की गई कार्रवाई कानून के दायरे में रह कर की गई थी तथा कोटकपूरा में प्रदर्शनकारियों व पुलिस के बीच हुई झड़प के उपरांत की गई पुलिस कार्रवाई के लिए उनकी सीधे तौर पर कोई ज़िम्मेवारी नहीं बनती, क्योंकि उच्च पुलिस अधिकारियों के निर्देशों तहत ही कार्रवाई चली थी। सिद्धू ने कहा कि उनके विरुद्ध मामला गलत दर्ज किया गया है, लिहाज़ा इस मामले में उनको अग्रिम ज़मानत दी जानी चाहिए। यह ज़मानत अज़र्ी मंगलवार को सुनवाई हेतु आनी थी परन्तु सिद्धू के वकील ने बैंच के आगे पेश होकर कहा कि उन्होंने किसी निजी काम के लिए शहर से बाहर जाना है, लिहाज़ा उनको आज पैरवी से छूट दी जाए। इस बेनती को मंजूर करते हुए हाईकोर्ट ने सुनवाई 20 जून पर डाल दी है।