पाक में आज पहली बार स्थापित की जाएगी शेर-ए-पंजाब की विशाल प्रतिमा


अमृतसर, 26 जून (सुरिंदर कोछड़): पाकिस्तान में पहली बार शेर-ए-पंजाब महाराजा रणजीत सिंह की 180वीं बरसी मौके 27 जून को महाराजा की विशाल प्रतिमा लाहौर के शाही किले स्थित सिख गैलरी में स्थाई प्रदर्शनी हेतु स्थापित की जा रही है। इस प्रतिमा के 35 से 50 वर्ष तक कायम रहने की सम्भावना है। उक्त के अलावा कल सायं 5 बजे (पाकिस्तानी समय के अनुसार) किले स्थित माई जिंदा हवेली, जोकि सिख गैलरी में तबदील कर दी गई है, में वाल्ड सिटी आफ लाहौर अथारिटी (पंजाब सरकार) द्वारा सिख हैरीटेज फाऊंडेशन यू.के. के सहयोग से लगाई जाने वाली एक और अस्थाई प्रदर्शनी में फकीरखाना म्यूज़ियम के डायरैक्टर फकीर सैफुदीन द्वारा तैयार करवाए महाराजा रणजीत सिंह के 180 बस्ट स्कलपचर भी रखे जाएंगे। विभिन्न रूप वाले 32 इंच ऊंचे व 14 इंच चौड़े फाइबर ग्लास व कांस्य के बने हरेक बस्ट स्कलपचर की कीमत 1835 डालर (पाकिस्तानी करंसी के अनुसार लगभग 2 लाख 90 हज़ार रुपए) रखी गई है।
लाहौर से इस संबंधी फोन पर ‘अजीत समाचार’ के साथ जानकारी साझा करते हुए खोजकर्ता शाहिद शबीर ने बताया कि महाराजा रणजीत सिंह के बनी विशाल प्रतिमा पर वह अपने पसंदीदा अरबी घोड़े पर बैठे दिखाए गए हैं। छोटे कद वाले घोड़े पर बैठे महाराजा का कद 5.5 फुट है और उन्हें यह घोड़ा बारकज़ाई राजवंश के संस्थापक व अफगानिस्तान के प्रसिद्ध शासक दोस्त मुहम्मद खान ने उपहार स्वरूप दिया था। उन्होंने बताया कि महाराजा व उनके पसंदीदा घोड़े की विशाल प्रतिमा भी लाहौर के भाटी दरवाज़ा के अंदर स्थित फकीरखाना म्यूज़ियम के डायरैक्टर फकीर सैफुदीन की निगरानी में तैयार करवाया गया है। यह प्रतिमा 8 माह में तैयार हुई है। उक्त प्रतिमा को सिख गैलरी में स्थापित करवाने में अहम भूमिका निभाने वाले सिख हैरीटेज फाऊंडेशन यूके के डायरैक्टर बौबी सिंह बांसल ने कहा कि शेर-ए-पंजाब के शासन का मुख्य हिस्सा रहे उक्त किले में पहली बार उनकी प्रतिमा स्थापित किया जाना महाराजा को उनकी 180वीं बरसी मौके दी जाने वाली एक सच्ची व यादगारी श्रद्धांजलि साबित होगी। 
उन्होंने कहा कि वह इस ऐतिहासिक पल का हिस्सा बनने पर बेहद खुशी महसूस कर रहे हैं। उन्होंने यह भी बताया कि इस संबंध शाही किले की सिख गैलरी में रखे समारोह में भारत से शेर-ए-पंजाब की बरसी मौके पाकिस्तान पहुंचे भारतीय श्रद्धालुओं को भी विशेष तौर पर शामिल किया जाएगा।