विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप: मंजू रानी फाइनल में


उलान उदे, 12 अक्तूबर (भाषा): पहली बार खेल रही मंजू रानी (48 किग्रा) ने शानदार प्रदर्शन के बूते फाइनल में प्रवेश किया लेकिन छह बार की चैम्पियन एम सी मैरीकोम (51 किलो) को शनिवार को यहां विश्व महिला मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा। छठी वरीयता प्राप्त मंजू रानी ने सेमीफाइनल में थाईलैंड की चुटहामत रखसत को 4-1 से शिकस्त दी। अब उनका सामना रविवार को फाइनल में दूसरी वरीयता प्राप्त रूस की एकेटरीना पाल्टसेवा से होगा। लेकिन मेरीकोम के अलावा पदार्पण कर रही एक अन्य मुक्केबाज जमुना बोरो (54 किग्रा) को सेमीफाइनल में हारने से कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा। तीसरी वरीयता प्राप्त मेरीकोम को यूरोपीय चैम्पियनशिप और यूरोपीय खेलों की स्वर्ण पदक विजेता तुर्की की बुसेनाज काकिरोग्लू से 1 . 4 से पराजय झेलनी पड़ी। जमुना बोरो को शीर्ष वरीय और एशियाई खेलों की कांस्य पदकधारी चीनी ताइपे की हुआंग सियाओ वेन से 0-5 से हार मिली।   भारतीय दल ने मेरीकोम के फैसले का रिव्यू मांगा लेकिन अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ की तकनीकी समिति ने उनकी अपील खारिज कर दी ।  मेरीकोम ने हार के बाद ट््वीट किया ,‘‘ क्यो और कैसे । दुनिया को यह पता लगे कि यह फैसला कितना सही था या कितना गलत ।’’