पावरकाम की 4700 करोड़ की सब्सिडी फंसी


जालन्धर, 15 नवम्बर (शिव शर्मा) : पावरकाम के लिए यह महीने काफी महंगे साबित हुए हैं और अब जनवरी से उपभोक्ताओं के लिए महंगी बिजली का भार पड़ने की संभावना जाहिर की जा रही है। नवम्बर महीने तक पावरकाम को पंजाब सरकार ने 10000 करोड़ के लगभग बिजली सब्सिडी की राशि की अदायगी करने हैं परंतु सब्सिडी के मामले में पावरकाम के हाथ काफी तंग हो गए हैं। एक ओर कोयला कंपनियों को 1420 करोड़ की अदायगी करने और बिजली सब्सिडी की राशि भी फंसी होने के कारण पावरकाम चाहता है कि ज़रुरी हालातों के कारण उसे 1420 करोड़ की अदायगी करनी पड़ी है।  उसकी भरपाई के लिए जनवरी 2020 से ही 10 से 12 पैसे प्रति यूनिट बिजली दरें लागू की जाए। जानकारी   के अनुसार नवम्बर तक 10000 करोड़ रुपए पंजाब सरकार के बिजली सब्सिडी की रकम देनी थी। इसमें 2500 करोड़ रुपए की सब्सिडी की रकम तो पंजाब सरकार ने नकद रूप में पावरकाम को उपलब्ध करवा दी है। बाकी सब्सिडी की राशि पंजाब सरकार ने बिजली ड्यूटी, बुनियादी विकास ढांचा कर सहित अन्य कर की  रकम की एडजस्टमैंट कर ली है। पावरकाम से एडजस्टमैंट करके भी पंजाब सरकार ने 4700 करोड़ रुपए की अदायगी करनी है। पावरकाम को ज़रूरी हालातों मे कंपनियों को 1420 करोड़ की भरपाई करनी पड़ी है। उसकी भरपाई करने के लिए अब पंजाब बिजली आयोग जो याचिका दाखिल की गई थी, उसको आयोग ने मंजूर कर लिया है। यह कहा जा रहा है कि 2020 को राज्य के भुगताओं को महंगी बिजली के फैसले का सामना करना पड़ सकता है।