आईसीसी ने खिलाड़ियों और फैन्स को दिया सुरक्षा का आश्वासन


लंदन ,26 मई (वार्ता) : अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की भ्रष्टाचार रोधी एवं सुरक्षा इकाई (एसीएसयू) के अध्यक्ष रोनी फ्लैनेगन ने एक जून से इंग्लैंड में होने वाली चैंपियंस ट्राफी के लिये सभी टीमों के खिलाड़यिं और यहां आने वाले प्रशंसकों को उनकी सुरक्षा का आश्वासन दिया है।
इंग्लैंड एंड वेल्स में आईसीसी चैंपियंस ट्राफी का आयोजन एक जून से होना है। लेकिन इस सप्ताह मैनचेस्टर में हुये आतंकवादी हमले के बाद यहां टूर्नामेंट की सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े हो गये हैं। फ्लैनेगन ने कहा कि क्रिकेट कभी भी आतंकवादियों के सामने झुकेगा नहीं और वह यह भरोसा दिलाना चाहते हैं कि यह एक सुरक्षित टूर्नामेंट होगा। पुलिस अधिकारी के तौर पर काम कर चुके फ्लैनेगन ने लंदन में संवाददाता सम्मेलन में कहा॑आतंकवादियों को हम पर हावी मत होने दीजिये। मेरे हिसाब से खेल का हमेशा विपरित परिस्थितियों में सकारात्मक प्रभाव होता है और हमने यह दक्षिण अफ्रीका में देखा है। मैंने खुद इसका अनुभव आयरलैंड में किया था। आईसीसी अधिकारी ने कहा॑ मुझे भरोसा है कि हम आतंकवादियों के सामने कभी भी हार नहीं मानेंगे। मैं लोगों से सतर्क रहने की अपील करता हूं, यदि वे कुछ देखें तो बतायें लेकिन मैच देखने जरूर आयें। हम जानते हैं कि सुरक्षा की वजह से उन्हें कुछ अतिरिक्त परेशानी झेलनी पड़ेगी जिसमें लोगों की गहन जांच और उनके वाहनों की जांच आदि। यदि वे कोई सामान लेकर आते हैं तो उसकी जांच भी होगी।॑ फ्लैनेगन ने साथ ही साफ किया है कि अभी तक टूर्नामेंट में भाग लेने वाली आठ टीमों में से किसी ने भी सुरक्षा को लेकर किसी तरह की चिंता नहीं जताई है। उन्होंने कहा॑ टीमों के अभ्यास सत्र उनके तय कार्यक्रमों से हो रहे हैं और खिलाड़यिं के आने जाने पर भी कोई बंधन नहीं है। 
लेकिन टीम प्रबंधकों को सुरक्षा के लिये आईसीसी अधिकारियों ने जानकारी दे दी है। चैंपियंस ट्राफी में हिस्सा लेने वाली टीमों में भारत, न्यूजीलैंड और श्रीलंका के कप्तानों ने भी पुष्टि की है कि उन्हें सुरक्षा की कोई चिंता नहीं है। इससे पहले गुरूवार को इंग्लैंड पहुंची भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने भी कहा था कि उनका और खिलाड़यिं का पूरा ध्यान केवल खेल पर है और उन्हें सुरक्षा की चिंता नहीं है।