शॉपिंग करते समय


* कुछ भी खरीदने से पहले उसकी निर्माण तिथि अवश्य देखें। 
* खाद्य वस्तुएं और दवाईयां खरीदते समय उसकी ‘एक्सपायरी तारीख’ का भी ध्यान रखें।
* पहली बार नई वस्तु खरीदते समय छोटी पैकिंग लें। प्रयोग करने और संतुष्ट हो जाने के बाद बड़ा पैक खरीद सकती हैं।
* आकर्षक पैकिंग से प्रभावित हो कर सामान न खरीदें।
* अनावश्यक सामान की खरीदारी से बचें। घर पर पहले आवश्यक चीजें खरीदने की लिस्ट तैयार कर लें।
* सेल आदि देखने जाने से पहले सोचें कि वहां जो सामान उपलब्ध है, आपके लिए कितनी उपयोगिता लिए हुए है। घर से सोचकर जायें और पैसों का भी अनुमान लगायें कि वहां कितना खर्च करना है।
* भेड़-चाल में अनावश्यक चीज़ें खरीदने से अपने को बचायें।
* शेखी बघारने के लिए फिजूलखर्ची न करें।
* जो सामान शीघ्र खराब होने वाला हो, उसे थोड़ी मात्रा में खरीदें। उसका प्रयोग निर्धारित समय तक अवश्य कर लें। वस्त्र या सिले-सिलाए वस्त्र खरीदते समय उचित नाप और रंग देखकर खरीदें। घर में जिस सदस्य को कपड़े की ज़रूरत हो, उसी के लिए 
ही खरीदें।
* घर से सामान के अनुसार सामान लाने के लिए बैग आदि 
लेकर निकलें।
* फर्नीचर या घर की कोई बड़ी वस्तु खरीदने से पहले अच्छी तरह सोच कर फैसला करें। कुछ दुकानों से उसके दाम परख लें।
* कोशिश करें कि अच्छे ब्रैंड नेम वाली वस्तुएं खरीदें। लोकल वस्तुएं सस्ती होने पर आपका साथ भी कम समय तक देंगी।
* कांच या चीनी का सामान लेते समय खाली उसी की खरीदारी करें अन्यथा अधिक सामान खरीदने पर वे टूट सकते हैं।
* शापिंग पर जाने से पहले बजट बनाना बहुत आवश्यक है। बजट से बाहर न जायें।
* उपहार आदि खरीदने जाने से पहले कितने तक का उपहार देना है, मन में इसका फैसला करके जायें। जिसके लिए उपहार खरीदना हो, उसकी पसंद का भी ध्यान रखा जाये तो उपहार का मूल्य दुगुना हो जायेगा।
* दुकानदार से अधिक बहस न करें। यदि आपको उचित लगे तो खरीदें अन्यथा न खरीदें। (उर्वशी)
—सुनीता गाबा