संसद के मानसून सत्र का आगाज़


नई दिल्ली, 17 जुलाई (उपमा डागा पारथ): देश के नए राष्ट्रपति व उप-राष्ट्रपति का ऐलान करने वाले मानसून सत्र की शुरुआत राष्ट्रपति के पद के लिए चुनाव के साथ हुई। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सत्र से पहले इसके सुचारू ढंग से चलने की कामना करते हुए जी.एस.टी. लागू करने के लिए सभी राजनीतिक दलों का आभार जताया। दूसरी तरफ कांग्रेस के नेतृत्व में 18 राजनीतिक विरोधी दल बाकायदा रणनीति तैयार कर सरकार को घेरने की कोशिश करेंगे। चाहे चीन मुद्दे पर केन्द्र को निशाने पर लेने के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज द्वारा दी जानकारी के बाद विपक्षी दल ने इस मामले में सरकार का विरोध न करने का फैसला किया है परंतु किसानों की आत्महत्याओं, जी.एस.टी. को लागू करने में की जल्दबाज़ी, नोटबंदी का लोगों पर बुरा असर, देश के संघीय ढांचे को बचाना व फज़र्ी खबरों से लोगों को भड़काने के मुद्दे पर विपक्ष सरकार का घेराव करेगा। 
जी.एस.टी. की खुशबू से भरा है मानसून सत्र : मोदी : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सत्र से पहले जी.एस.टी. लागू करने का विशेष तौर पर उल्लेख करते हुए इसे राष्ट्रहित के लिए उठाया गया कदम बताया। प्रधानमंत्री ने 30 जून की मध्यरात्रि को जी.एस.टी. लागू करने के लिए किए जश्न में इसे ‘गुड एंड सिम्पल टैक्स’ कहकर परिभाषित किया था। आज इसकी नई परिभाषा देते हुए इसे ‘ग्रोइंग, स्ट्रींगर टूगैदर’ बताते हुए कहा कि जी.एस.टी. से साबित हो चुका है कि देश के सभी दल व सरकारें राष्ट्रहित के लिए काम करते हैं। 
बिछड़ी आत्माओं को दी श्रद्धांजलि : मानसून सत्र के पहले दिन संसद के दोनों सदनों में सांसदों के देहांत व अमरनाथ हमले में मारे गये लोगों को श्रद्धांजलि भेंट की गई। गुरदासपुर से लोकसभा सांसद विनोद खन्ना व दो राज्यसभा सांसदों भाजपा के अनिल दवे व कांग्रेस के पलवई गोवर्धन रेड्डी का पिछले सत्र के बाद देहांत हो गया था। लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने श्रद्धांजलि के बाद सभा की कार्यवाही मंगलवार तक के लिए स्थगित कर दी। लोकसभा में श्रीनगर के उप-चुनाव जीतकर आए फारुख अब्दुल्ला व केरल के मल्लापुरम से विजेता पी.के. कुन्हलीकुट्टी ने आज नए सांसदों के रूप में शपथ ली। 11 अगस्त तक चलने वाले मानसून सत्र में कुल 19 बैठकें होंगी। संसद के एजेंडे में लोकसभा से पारित हुए 9 प्रस्तावों सहित 18 प्रस्तावों को पारित करवाना व 16 नए प्रस्ताव पारित करवाना शामिल है।