कैप्टन सरकार ने लोगों से धोखा व विश्वासघात किया : सुखबीर


चंडीगढ़, 8 सितम्बर (अजायब सिंह औजला): शिरोमणि अकाली दल ने कैप्टन सरकार के 6 माह का रिपोर्ट कार्ड पेश करते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार ने पिछले 6 माह दौरान लोगों के साथ किए हर वादे से पीछे हटकर पंजाबियों को बुरी तरह निराश किया है। अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने एक पत्रकार सम्मेलन दौरान कहा कि मैंने पहले भी कहा था कि हम नई सरकार को अपनी कारगुज़ारी दिखाने का समय देंगे। इस 6 माह के कार्यकाल को यदि एक शब्द में बताना हो तो इसे पूरे कार्यकाल दौरान कांग्रेस सरकार ने लोगों को झूठी उम्मीदों व झूठे  सपने दिखाकर केवल उनके साथ धोखा व विश्वासघात किया है और हमारी कोर कमेटी 16 सितम्बर को कांग्रेस सरकार की नाममात्र कारगुज़ारी के खिलाफ जन आंदोलन शुरू करने का फैसला करेगी। कांग्रेस की नाकामियों का ज़िक्र करते हुए सुखबीर ने कहा कि कैप्टन अमरेन्द्र सिंह द्वारा किसानों से कज़र् माफी के फार्म भरवाकर उन्हें लिखित रूप में वचनबद्धता दी होने के बावजूद इस सरकार ने प्रदेश के एक भी किसान का कज़र् माफ नहीं किया। उन्होंने कहा कि 200 से अधिक किसान आत्महत्याएं कर चुके हैं, परंतु किसी भी पीड़ित परिवार को अभी तक वादे के अनुसार 10 लाख रुपये या सरकारी नौकरी नहीं दी गई। उन्होंने कहा कि सरकार गुरदासपुर लोकसभा क्षेत्र में किसानों के खरीदे गन्ने की बकाया राशि की अदायगी कर छोटी राजनीति कर रही है क्योंकि यहां जल्द ही चुनाव होने जा रहे हैं। सुखबीर ने काह कि सरकार ने घर-घर नौकरी का वादा किया था, जिसके अनुसार पंजाब में 50 लाख घरों को नौकरी देने के लिए लगभग हर साल 10 लाख नौकरियां देनी चाहिएं थीं, अब 6 माह बीत चुके हैं और नौजवानों को मूर्ख बनाया है। उन्होेंने कहा कि हाल ही में रोज़गार मेले के नाम पर एक ठगी मारी गई है, जिसमें सरकार ने तकनीकी कालेजों द्वारा वार्षिक की जाती नौकरियों की भर्ती को अपने लिए ढाल बनाया है। इस अवसर पर अकाली सरकार के कई पूर्व मंत्री  व नेता जिनमें विक्रमजीत सिंह मजीठिया, विरसा सिंह वल्टोहा, महेशइंद्र सिंह ग्रेवाल, पवन कुमार टीनू, एन.के. शर्मा, मनजिंदर सिंह सिरसा, हरसुखिंदर बब्बी बादल व चरनजीत सिंह बराड़ व अन्यों ने भी शमूलियत की।