शिरोमणि कमेटी का शिष्टमंडल राज्यपाल से मिला


अमृतसर, 9 सितम्बर (राजेश कुमार) : शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी का शिष्टमंडल आज पंजाब के राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर को मिला और सिक्किम के गुरूद्वारों सहित अन्य मसलों को लेकर प्रधान प्रो. किरपाल सिंह बंडूगर द्वारा भेजा मांग पत्र सौंपा। इस शिष्टमंडल में शिरोमणि कमेटी के सी. उपप्रधान बलदेव सिंह, जूनीयर उपप्रधान बाबा बूटा सिंह, मैंबर बीबी परमजीत कौर, सचिव अवतार सिंह सैंपला तथा अतिरिक्त सचिव डा. परमजीत सिंह सरोआ शामिल थे। इस मांग पत्र द्वारा प्रो. बंडूगर ने सिक्किम के गुरूद्वारा डांगमार तथा गुरूद्वारा चुंगथांग के अस्तित्व को खत्म करने पर सख्त रोष व्यक्त करते हुए कहा कि श्री गुरू नानक देव जी के चरण स्पर्श इन स्थानों को खत्म करना कतई बर्दाश्त नहीं है। उन्होंने वहां के प्रशासन पर पक्षपात करने का भी आरोप लगाया। उन्होंने मांग करते हुए कहा कि पंजाब के राज्यपाल इस मसले को सिक्किम के राज्यपाल के पास उठाये और इसका तुरन्त हॅल करे। उन्होंने चंडीगढ़ स्थित गुरूद्वारा श्री कलगीधर निवास को लगाये गए जुर्माने तथा प्रोपर्टी टैक्स के मसले को भी उठाते हुए इस टैक्स को वापिस लेने की मांग की। प्रो. बंडूगर ने कहा कि इस मसले को पहले भी दो बार उठाया गया था लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई।  मांग पत्र द्वारा प्रो. बंडूगर ने भाई काहन सिंह नाभा रचित महान कोष के साथ पंजाबी विश्वविद्यालय द्वारा अनुवादक खोज कार्य समय की गई छेड़छाड़ का मामला भी गंभीरता के साथ उठाते हुए इसकी छॅप चुकी 20 हजार कापियों को तुरन्त नष्ट करके इसकी जांच करवाने की मांग की। इसके साथ ही उन्हाेंने श्री हरिमंदिर साहिब में चलते मुफ्त लंगर आदि पर केन्द्र सरकार द्वारा लगाई जीएसटी को भी खत्म करने की मांग की।