पटाखा गोदाम हादसे में मरने वालों की संख्या हुई पांच


संगरूर, दिडबा मंडी, 20 सिम्बर (दमनजीत सिंह, परविन्द्र सोनू): सूलर घराट में गत रात्रि पटाखो के गोदाम में हुए धमाके के कारण वहा कार्य करने वाले नज़दीक गांव ढंडोली कलां के चार नौजवान की मौके पर ही मौत ही गई। जब कि कार्य करने वाले और तीन नौजवान सहित गोदाम के पडोसी परिवार जिस में चार सदस्स हैं गंभीर घायल हो गए और कार्य करने वाले कई व्यक्ति लापता हैं। धमाके की आवाज़ 15 किलोमीटर की दूरी तक सुनाई दी प्रशासन को शक है शायद मलबे नीचे व्यक्ति की शव भी हो सकते हैं। इस के लिए जे.सी.बी मशीन की मद्द साथ एक मलबा हटाने का कार्य शुरू किया गया है। पुलिस ने सुचनैच सिंह पुत्र बलदेव सिंह निवासी ढंडोली कलां के ब्यान पर गोदाम के मालिक प्रदीप कुमार और गांधी राम खिलाफ विभिन्न धाराओं तहत मामला दर्ज कर लिया है। सुखचैन सिंह ढंडोली कला ने पुलिस को दिए ब्यान में बताया कि प्रदीप कुमार गांधी राम निवासी सूलर घराट के पटाखे वाले सटोर में दिन की शिफट में सायं 8 बजे तक कार्य करते था आज जब मैं  अपनी शिफट खत्म कर घर को जाना था तो रात्रि का कार्य करने वाल कर्मचारी आ गए थे। जिन में एक मेरा भाई भी था मैं बाजार में कुछ सामान लेने चला गया तो कम समय बाद ही  जोरदार धमाके की आवाज़ सुनाई दी मैं वापिस आ गया और देखा कि दो गोदाम में धमाका होने कारण भयानक आग लगी हुई। दो गोदाम बूरी तरह नुक्साने गए थे। मलबे में तलाश करने पर मेरे भाई गुरप्यार सिंह, गुरशरन सिंह, भुपिन्द्र सिंह, और गुरसेवक सिंह की शव धमाके कारण बुरी तरह जले मिले और धन्ना सिंह बुरी तरह जला हुआ था। कर्मजीत सिंह, अवतार सिंह और वहा कार्य करते हैं इनका कुछ पता नहीं लगा। ब्यान करता ने कहा कि यह दुर्घटना गोदाम मालिक की लापरवाही के कारण हुई है। पुलिस ने प्रदीप कुमार सिंगला, और गांधी राम सिंगला के खिलाफ आई.पी.सी. की धारा 304, 308, 427 और 9बी एकसपोलिस्व एक्ट 1884 और 3, 4 विस्फोटक पदार्थ एकट 1908 तहत मामला दर्ज कर लिया है। घटनास्थल पर पहुंचे जिलाधीश अमरप्रताप सिंह विर्क  और जिला पुलिस मुख्य मनदीप सिंह सिद्धू ने बताया कि मामले की गहराई साथ जांच करने के लिए सिविल और पुलिस प्रशासन द्वारा तीन सदस्य जांच कमेटी का गठन किया गया है । बाद दोपहर तीन अधिकारी पर आधारित जांच टीम और गांधी दास के सूलर घराट में ही स्थित चार और गोदाम जांच करने के बाद सील कर दिए । जांच टीम के सदस्य डी.एस.पी. दिडबा योगेश कुमार ने ‘अजीत समाचार’ साथ बातचीत करते बताया जांच दौरान गांधी दास के चार गोदाम में भारी मात्रा में पटाखे बरामद हुए है। मौडा के पास साबन फैक्टरी वाले गोदाम में पटाके बनाने वाली लगभग 10 मशीन, पटाखों पर लगता चमकीला कागज़ और पटखे बनाने का कुछ और आपतिजनक सामान भी बरामद हुआ है। उन्होेंने बताया कि  जांच दौरान ’रैड फारफोर्स ’ नामक तरल पदार्थ के लगभग 20-20 लीटर के तीन ड्रंम भी बरीमद हुए हैं । जानकारी अनुसार आज दोपहर फैरांसिक साईंस लैबोरट्री चडीगढ़ से आई तीन सदस्य टीम द्वारा भी घटनास्थाल की गहराई साथ जांच की गई और टीम द्वारा मौके पर कुछ सैंपल भी लिए जाने की बात सामने आई है।