विद्यार्थियों के सामने ही अध्यापक हुए हाथापाई


होशियारपुर, 20 सितम्बर (बलजिंदरपाल सिंह/नरेन्द्र मोहन शर्मा): अध्यापकों से विद्यार्थियों को अच्छे नागरिक व अनुशासन में रहने की सीख मिलती है परंतु यदि अध्यापक ही आपस में हाथापाई होकर अनुशासन की प्रवाह ना करें तो विद्यार्थियों पर क्या प्रभाव पडेगा। कुछ ऐसा ही हुआ सरकारी सीनीयर सैकंडरी स्कूल गांव अज्जोवाल (होशियारपुर) में, यहां दो अध्यापकों ने स्कूल समय के दौरान ही विद्यार्थियों तथा अन्य अध्यापकों की उपस्थिति में ही एक-दूसरे के साथ न सिर्फ बहसबाजी तथा गलत शब्दों का प्रयोग किया बल्कि हाथापाई हो गए। इस दौरान साथी अध्यापकों ने बड़ी मुश्किल से दोनों को अलग अलग किया। मामले की जांच प्रिंसीपल द्वारा की जा रही है। सरकारी सीनियर सैकेंडरी स्कूल अज्जोवाल में लैक्चरार इकनामिक्स रनजीत सिंह तथा पंजाबी अध्यापक जसवीर सिंह द्वारा पुरानी रंजिश को लेकर जम्म कर झगड़ा हुआ जिस दौरान दोनों घायल हो गए। जसवीर सिंह ने बताया कि आज जब  वह स्कूल के एक कमरे की तरफ को जा रहे थे तो रनजीत सिंह ने उसको अपशब्द कहे, जब उसने इसका विरोध किया तो रनजीत सिंह ने उसको बैंच पर पटक दिया तथा उसके कपड़े भी फाड़ दिए। जसवीर सिंह ने आरोप लगाया कि रनजीत सिंह स्कूल में गु्रप बनाकर स्कूल का माहौल खराब कर रहा है तथा बाकी अध्यापकों को उसके खिलाफ भड़काता है। दूसरी तरफ लैक. रनजीत सिंह ने बताया कि पंजाबी अध्यापक जसवीर सिंह रोज़ाना पुरानी रंजिश को लेकर उसको जान से मारने की धमकियां देता था। आज जसवीर सिंह ने उस पर हमला किया। इस संबंधी जब स्कूल के प्रिं. चरन सिंह से बात की तो उन्होंने बताया कि दोनों अध्यापकों द्वारा एक दूसरे के खिलाफ शिकायत की गई है। मामले की जांच की जा रही है तथा इस संबंधी ज़िला शिक्षा अफसर (स) को भी सूचित किया जा रहा है। इस संबंधी ज़िला शिक्षा अफसर(स) मोहन सिंह लेहल से संपर्क किया तो उन्होंने उक्त घटना को मंदभागी बताते कहा कि प्रिंसीपल द्वारा जांच रिपोर्ट आने पर अगली कार्रवाई की जाएगी।
लैक्चरार खिलाफ कार्रवाई न हुई तो संघर्ष करेंगे : मंझपुर : इस दौरान अध्यापक दल पंजाब के अध्यक्ष ईशर सिंह मंझपुर ने लैक: रनजीत सिंह खिलाफ तुरंत कार्रवाई की मांग की। उन्होंने कहा कि यदि विभाग द्वारा कोई कार्रवाई ना की गई तो वो पंजाबी अध्यापक जसवीर सिंह को इंसाफ दिलाने के लिए संघर्ष शुरु कर देंगे जिसकी ज़िम्मेदारी विभाग की होगी।