पाक के आतंकवाद पर सुर बदले, कहार् अमरीका सबूत दे तो हम हक्कानी नेटवर्क को नष्ट कर देंगे : आसिफइ


स्लामाबाद, 10 अक्तूबर (भाषा): पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ ने कहा है कि यदि अमरीका इस बात के सबूत दे कि पाक के भीतर आतंकवादी संगठन हक्कानी नेटवर्क के सुरक्षित पनाहगाह हैं तो वे उन्हें नष्ट करने के लिए अमरीका के साथ संयुक्त अभियान के लिए तैयार हैं। ख्वाजा आसिफ का यह बयान अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा अगस्त में पाकिस्तान पर आतंक और अराजकता के एजेंटों को और पिछले 17 वर्ष में अफगानिस्तान में उन दुश्मनों जिनसे अमरीकी सेना लड़ाई लड़ रही है को शरण देने का आरोप लगाए जाने के बाद आया है। हाल ही में अमरीका में ट्रम्प प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात करके लौटे आसिफ ने एक्सप्रेस न्यूज से कहा, हमने अमरीकी अधिकारियों को पाकिस्तान में हक्कानी नेटवर्क के सुरक्षित पनाहगाह होने के सबूतों के साथ आने का न्यौता दिया है। उन्होंने कहा, अगर वे लक्षित क्षेत्रों में कोई गतिविधि (हक्कनी की) पाते हैं तो हमारी सेना अमरीका के साथ मिलकर उन्हें हमेशा के लिए नष्ट कर देगी। विदेश मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने इस माह के शुरूआत में अफगानिस्तान की यात्रा के दौरान राष्ट्रपति अशरफ गनी से मुलाकात करके उन्हें भी इसी तरह की पेशकश की थी। अमरीकी आलोचना के संबंध में पूछे जाने पर आसिफ ने कहा, अगर ट्रम्प प्रशासन ने हम पर और दबाव डाला तो मित्र देश खासतौर पर चीन, रुस, ईरान और तुर्की हमारे पक्ष में खड़े होंगे। उन्होंने आगे कहा कि अमरीकी रक्षा और विदेश मंत्री हम पर तानाशाही करते हैं, तो हम उनकी तानाशाही मानने से इनकार कर देंगे और अब हम वो करेंगे जो हमारे देश के हित में होगा।