कांग्रेस ने मणिशंकर को पार्टी से किया निलंबित


नई दिल्ली, 7 दिसम्बर (वार्ता) : कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने पर वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर को आज पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया और उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया है। कांग्रेस के मीडिया विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने आज रात ट््वीट कर कहा कि पार्टी ने विरोधियों के प्रति सम्मान की भावना दर्शाते हुए श्री अय्यर को निलंबित कर दिया है। उन्होंने सवाल किया कि क्या मोदी भी कभी इस तरह का साहस दिखा सकते हैं। उन्होंने लिखा, ‘यही है कांग्रेस का गांधीवादी नेतृत्व व विरोधी के प्रति सम्मान की भावना। कांग्रेस पार्टी ने मणिशंकर अय्यर को कारण बताओ नोटिस जारी कर प्राथमिक सदस्यता से निलम्बित कर दिया है। क्या मोदी जी कभी यह साहस दिखाएंगे?’ अय्यर ने आज दिन में मोदी पर अभद्र टिप्पणी करते हुए उन्हें ‘नीच’ और ‘असभ्य’ कहा था। अय्यर की इस टिप्पणी पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने उनसे माफी मांगने को कहा था जिसके बाद अय्यर ने यह कहते हुए माफी मांगी कि हिंदी भाषी नहीं होने की वजह से उन्होंने ‘नीच’ शब्द का इस्तेमाल कर दिया। कांग्रेस सूत्रों के अनुसार गांधी माफी मांगने के अय्यर के तरीके से संतुष्ट नहीं हैं और इसी वजह से उन्हें पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित करने के साथ ही कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज ही राजधानी में डॉ. अम्बेदकर अंतर्राष्ट्रीय केन्द्र के उद्घाटन के मौके पर अपने संबोधन में कांग्रेस और नेहरू-गांधी परिवार का नाम लिए बिना आरोप लगाया कि ‘एक परिवार’ को आगे बढ़ाने के लिए संविधान निर्माता डा. भीमराव अम्बेदकर का नाम और काम मिटाने का प्रयास किया गया। उन्होंने गांधी पर भी कटाक्ष किया था कि अब उन्हें बाबा साहेब की जगह ‘बाबा भोले’ याद आ रहे हैं।
इस पर अय्यर ने कहा था कि बाबा साहेब अम्बेदकर के सपनों को साकार करने में सबसे बड़ा योगदान पंडित जवाहर लाल नेहरू का रहा है और श्री मोदी ऐसे परिवार के बारे में ‘गंदी’ बातें कर रहे हैं और वह भी डा. अंबेदकर की याद में बनाई गई इमारत का उद्घाटन करते समय। उन्होंने मोदी पर बेहद आपत्तिजनक टिप्पणी करते हुए कहा ‘यह बहुत नीच किस्म का आदमी है। इसमें कोई सभ्यता नहीं है। ऐसे मौके पर इस किस्म की गंदी राजनीति करने की क्या आवश्यकता है।’