सरकार दलितों के हक के प्रति प्रतिबद्ध : मोदी


नई दिल्ली, 7 दिसम्बर (वार्ता) : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दलितों, पिछड़े तबकों और वंचितों के हकों के लिए सरकार की प्रतिबद्धता दोहराते हुए आज कहा कि इसके लिए उसके प्रयास निरन्तर जारी रहेंगे। श्री मोदी ने यहां बहुचर्चित डा. अम्बेदकर अंतर्राष्ट्रीय केन्द्र का उद्घाटन करने के बाद एक समारोह में कहा कि सरकार दलित, वंचित और पिछड़े वर्ग के प्रतीकों को फिर से स्थापित कर रही है। 
प्रधानमंत्री ने अपनी सरकार की विभिन्न योजनाओं और कार्यक्रमों का उल्लेख करते हुए कहा कि उनकी सरकार डा. अम्बेदकर की सामाजिक लोकतंत्र के सपनों को पूरा कर रही है। नया भारत डा. अम्बेदकर के सपनों के अनुरूप होगा। उन्होंने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का नाम लिए बिना कहा कि उनको डा. अम्बेदकर से संबंधित योजनाओं और कार्यक्रमों की भी जानकारी भी नहीं होगी। ‘वैसे उनको आजकल बाबा साहेब नहीं बाबा भोले ज्यादा याद आ रहे हैं।’सामाजिक न्याय और आधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत, राज्य मंत्री रामदास अठावले, कृषण पाल गुर्जर, विजय सांपला और संसदीय कार्य राज्य मंत्री विजय गोयल भी  इस अवसर पर मौजूद थे।  इससे पहले प्रधानमंत्री ने केंद्र के प्रांगण में मौजूद डा. भीमराव अम्बेदकर की प्रतिमा पर नंगे पांव होकर पुष्पांजलि दी। केंद्र का निर्माण लगभग दो साल में पूरा हुआ है और इसकी लागत 185 करोड़ रुपये आयी है। यह केंद्र बौद्ध एवं आधुनिक कला का मिश्रण है। इसमें डिजिटल संग्रह तथा एक पुस्तकालय भी है।