पादरी कत्ल मामला : एनआईए ने शेरा व कैनेडियन को किया नामज़द




एस.ए.एस. नगर, 2 जनवरी (जसबीर सिंह जस्सी) : लुधियाना स्थित चर्च के पादरी सुल्तान मसीह का कत्ल करने के मामले में एनआईए द्वारा हरदीप सिंह शेरा उर्फ पहलवान तथा रमनदीप सिंह कैनेडियन उर्फ बग्गा को आज पहली बार नामज़द किया गया है, जबकि पंजाब पुलिस द्वारा भी अब तक इस कत्ल मामले में किसी की भी गिरफ्तारी नहीं की गई थी। अदालत में आज एनआईए द्वारा हरदीप सिंह शेरा उर्फ पहलवान, रमनदीप सिंह कैनेडियन उर्फ बग्गा और जगतार सिंह जग्गी को पेश किया गया। एनआईए के वकील सुरिंद्र सिंह परमार ने अदालत में गोसाईं कत्ल केस और आरएसएस की शाखा में गोली चलाने वाले मामले में तीनों मुलज़िमों का ओर रिमांड की मांग न करते हुए जेल भेजने की अज़र्ी दी और साथ ही शेरा तथा कैनेडियन को लुधियाना की चर्च के पास्टर का कत्ल करने वाले मामले में नामज़द कर रिमांड की मांग की, जबकि बचाव पक्ष के वकील जसपाल सिंह मंझपुर ने उक्त रिमांड का विरोध किया। अदालत ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के पश्चात् शेरा तथा कैनेडियन को 4 जनवरी तक रिमांड पर भेज दिया और साथ ही जग्गी जौहल को न्यायिक हिरासत में भेजने के आदेश दिए। वर्णनीय है कि 15 जुलाई 2017 को सरबजीत ने लुधियाना पुलिस को दिए ब्यानों में बताया कि उसके पति टैपर आफ गोल्डर चर्च पीरू बंदा लुधियाना में बतौर पास्टर कार्य करते थे और वे लगभग 30 वर्ष से इस चर्च में ही रह रहे हैं। 15 जुलाई की रात को उसके पति चर्च के बाहर मोबाइल पर बात कर रहे थे, इस दौरान दो नकाबपोश नौजवानों ने उसके पति पर तीन गोलियां चलाईं और मौके से फरार हो गए, बाद में सुल्तान मसीह की अस्पताल में मौत हो गई थी। चाहे पुलिस ने उस समय अज्ञात व्यक्तियों खिलाफ कत्ल का पर्चा दर्ज किया था, लेकिन आज से पहले इस मामले में किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हुई थी।