भारत ने कहा, पाकिस्तान के साथ आतंकवाद पर हो सकती है बातचीत


नई दिल्ली, 11 जनवरी (इंट) : पाकिस्तान के प्रति भारत के रुख में बड़ा बदलाव देखने को मिला है। भारत ने कहा है कि पड़ोसी देश के मामले में हम कहते रहे हैं कि बातचीत और आतंकवाद दोनों साथ-साथ नहीं चल सकते लेकिन आतंक पर बातचीत निश्चित रूप से आगे बढ़ सकती है। भारत ने माना है कि हाल में दोनों देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार मिले थे।भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नसीर खान जंजुआ ने 26 दिसम्बर को थाइलैंड की राजधानी बैंकॉक में दो घंटे तक मुलाकात की थी। इस मुलाकात की मीडिया में आई रिपोर्ट पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने तब कोई बयान नहीं जारी किया था। विदेश मंत्रालय ने प्रवक्ता रवीश कुमार ने गुरुवार को यहां कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच बातचीत की प्रक्रिया पर हम यह कहते रहे हैं कि बातचीत और आतंक दोनों साथ नहीं चल सकते, लेकिन ऐसी कई व्यवस्थाएं हैं जिनके तहत भारत और पाकिस्तान के बीच बातचीत जारी है। मसलन दोनों देशों की सेनाओं के डीजीएमओ आपस में बातचीत करते रहते हैं। बीएसएफ और पाकिस्तान के रेंजर्स भी आपस में बातचीत करते रहते हैं। इसी तरीके से दोनों देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की बैठक हुई थी। हम कहते रहे हैं कि बातचीत और आतंक दोनों साथ-साथ नहीं चल सकते लेकिन आतंक पर बातचीत निश्चित रूप से आगे बढ़ सकती है। इस बातचीत में हमने सीमा पार से आतंकवाद का मुद्दा उठाया। बातचीत पूरी तरह से इस मुद्दे पर फोकस रही। हम यह सुनिश्चित करना चाहेंगे कि आतंक पूरे क्षेत्र को प्रभावित न करे।