महापुरुषों की प्रतिमाएं तोड़ने की आज्ञा किसी को नहीं : राजनाथ



राजेश कुमार शर्मा
अमृतसर, 13 मार्च : भारत के गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने आज यहां शहीदी ज़लियांवाला बाग में अमर शहीद उधम सिंह जी की प्रतिमा का अनावरण किया। अन्तर्राष्ट्रीय सर्व कंबोज समाज के प्रयासों से स्थापित की गई इस प्रतिमा के लिए गृहमंत्री ने उनको दिल से बधाई भी दी। इस मौके पर आज यहां कंबोज बिरादरी सहित अन्य उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि शहीद उधम सिंह उन महान शहीदों में से एक है जिन्होने ज़लियांवाला बाग में हुए कांड को न सहते हुए अंग्रेजों से इसका बदला लेने के लिए 20 वर्ष इंतजार किया और आखिर में विदेशी धरती लंदन में जाकर इस नरसंहार के आरोपी को गोलीयों से भूनकर भारत के उन महान शहीद आत्माओं को अपनी सच्ची श्रद्धांजलि भेंट की। उन्होंने कहा कि अगले वर्ष जलियाला बाग कांड की शताब्दी आ रही है जिसको भारत सरकार की ओर से पूरे भारत में बड़े स्तर पर मनाने की योजनाएं चल रही है और इसको मुख्य रखते हुए सरकार की ओर से जलियांवाला बाग का सुंदरीकरन भी किया जायेगा। गृहमंत्री ने देश भर में महान शहीदों और महापुरूषों की तोड़ी जा रही प्रतिमाओं पर सख्त रूख अपनाते हुए कहा कि भारत सरकार की ओर से ऐसी कार्यवाही करने की किसी को भी आज्ञा नहीं दी जा सकती। उन्होने कहा कि गृहमंत्रालय की ओर से राज्य सरकारों को भी आरोपियों खिलाफ सख्त कार्यवाही करने के आदेश दिए जा चुके है। इस मौके पर मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह की ओर से पहुंचे केबिनेट मंत्री साधु सिंह धर्मसोत ने शहीद उधम सिंह को श्रद्धाजंलि भेंट करते हुए कहा कि देशवासी उस महान आत्मा का कभी कर्जा नहीं उतार सकते। उन्होंने कहा कि शहीद उधम सिंह जी की प्रतिमा स्थापित करने पर वे कम्बोज बिरादरी का तहे दिल से धन्यवाद करते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि कम्बोज बिरादरी की मांग मुताबिक वे गुरु नानक देव विश्वविद्यालय में शहीद उधम सिंह जी की चेयर स्थापित करवाने के लिए पंजाब सरकार से बात करेंगे और उनको पूरा भरोसा है कि मुख्यमंत्री इस मांग को जल्द ही पूरा कर देंगे।  इस दौरान विधायक राणा गुरमीत सिंह सोढी, केन्द्रीय मंत्री विजय सांपला, लोकसभा सदस्य प्रेम सिंह चंदूमाजरा, पूर्व मंत्री हंसराज जोसन, सभा के प्रधान दौलत राम चौधरी ने भी संबोधन किया। अंत में कम्बोज बिरादरी की ओर से राजनाथ सिंह सहित अन्य मेहमानों को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित भी किया गया। समारोह में ओरों के अलावा, सांसद गुरजीत सिंह औजला, राज्यसभा सदस्य श्वेत मलिक, कर्मदेव राज्यमंत्री हरियाणा, पूर्व मंत्री अनिल जोशी, प्रो. लक्ष्मीकान्ता चावला, रजिंदर मोहन सिंह छीना, बोबी कम्बोज, खुशवंत राये गीगा व अन्य उपस्थित थे।