गर्मियों में होंठों की देखभाल


गर्म शुष्क हवा त्वचा के साथ-साथ आपके होंठों को भी नहीं छोड़ती। यह होंठों की स्वाभाविक नमी सोख लेती है, जिससे होंठों पर पपड़ी जमने के साथ-साथ उनमें जलन होने लगती है। कई बार तो होंठों में नमी न होने के कारण आप अपने होंठों पर बार-बार जीभ फेरने लगते हैं, जिससे आपके होंठ फटने और काले होने लगते हैं।
गर्म हवा के साथ सूर्य की पराबैंगनी किरणों का कुप्रभाव भी होंठों पर देखा गया है। अत: जिस प्रकार आप गर्मियों में त्वचा की देखभाल करती हैं, उसी तरह होंठों की देखभाल करना भी ज़रूरी है। कुछ टिप्स हैं, जिन्हें ध्यान में रखकर आर गर्मियों में अपने होंठों की स्वाभाविक रंगत व नमी बनाए रख सकती हैं।
* धूप में निकलते समय छतरी, टोपी व स्कार्फ आदि की सहायता लेना न भूलें। अगर आप दोपहिया वाहन चलाती हैं तो आवश्यक है कि दुपट्टे से चेहरा ढंक लिया जाए।
* आज कल सनस्क्रीन वाली अच्छी कंपनियों की लिपस्टिक भी बाज़ारों में उपलब्ध है, जिसे आप प्रयोग में ला सकती हैं। इसके अतिरिक्त रात को मलाई, नींबू व गुलाब की कुछ पत्तियों का लेप लगा कर भी होंठों की शुष्कता से निदान पाया जा सकता है।
* इसके अतिरिक्त कुछ एंटीसेप्टिक क्रीम या वैसलीन आदि का भी प्रयोग किया जा सकता है।
* होंठों पर ऊपरी लेप लगाने के साथ-साथ आप अपने खान-पान पर भी आवश्यक ध्यान दें। होंठों की नमी बनाए रखने के लिए आठ-नौ गिलास पानी बेहद ज़रूरी है। हल्के शाकाहारी भोजन के अतिरिक्त फल, नारियल पानी आदि भी लें।

उर्वशी)
—रूबी