आज के ज़माने के दर्शकों के लिये फिल्में बनाता हूं सुजॉय घोष 


शॉर्ट फिल्म ‘तीन पहेलियां’ बनाने का ख्याल कैसे आया?
-मुझे ऐसी फिल्में बनाना पसंद हैं, जो जीवन के हर दृष्टिकोण को लेकर लोगों को जागृत कर सकें। थ्रिलर हमेशा से ही मेरा जोनर रहा है, चाहे वह ‘कहानी’ हो, ‘कहानी 2: दुर्गा रानी सिंह’ या ‘टीई3एन’। जब स्टार प्लस चैनल शॉर्ट फिल्म बनाने के आइडिया के साथ मेरे पास आया, तो मुझे बेहद खुशी हुई क्योंकि मैं आज के जमाने के दर्शकों के लिये फिल्में बनाता हूं। लोगों की बदलती सोच को देखते हुए मैंने चैनल के साथ साझेदारी करने का निर्णय लिया। कई अलग-अलग आइडियाज पर अपना दिमाग दौड़ाया जोकि दर्शकों के लिये बिल्कुल अलग हो। उसी का परिणाम है मेरी ये तीन शॉर्ट फिल्में।  
इन शॉर्ट फिल्मों के लिये आपका दृष्टिकोण क्या है?
-ये तीनों शॉर्ट फिल्में रहस्य, रोमांच, आश्चर्य, पूर्वानुमान और बेचैनी से भरी हैं। ये फिल्में हमारे आस-पास रहने वाले लोगों की अलग-अलग खासियतों को सामने लाती हैं और तीनों ही फिल्मों के कॉन्सेप्ट दर्शकों को बांधे रखने वाले हैं। इन फिल्मों को लेकर मेरा दृष्टिकोण दर्शकों को बिल्कुल अलग और नये कॉन्सेप्ट के साथ ताजगीभरा कंटेंट पेश करना था। 
‘तीन पहेलियां’ के बारे में थोड़ा और बतायें?
-यह तीन फिल्मों का कॉम्बिनेशन है  ‘मिर्ची मालिनी’, ‘कॉपी’ और ‘गुडलक’, जोकि खासतौर से स्टार प्लस के लिये तैयार की गई हैं। पाओली डैम और अक्षय ओबेरॉय अभिनीत- ‘मिर्ची मालिनी’ ऐसे ही एक इंसान मालिनी की कहानी कहती है, जिसके पास एक अनूठी खूबी है। उसकी सबसे दिलचस्प बात यह है कि आपने जो खाना बनाया है, उसके जरिये आपका मन पढ़ सकती है! आपके हाथों के बने खाने के स्वाद के जरिये वह आपके बारे में हर चीज जान सकती है, आपके गहरे-छुपे राज भी। ‘कॉपी’ में सुरवीन चावला और विक्रांत मैसी नजर आयेंगे। इसमें एक युवा लड़के सिड की कहानी दिखाई गई है जो अपने ही तरह का एक रोबोट मंगवाता है। 
सारे कलाकारों के साथ काम करने का अनुभव कैसा रहा?
-मेरी तीनों ही शॉर्ट फिल्मों में सारे कलाकारों ने अपने स्टाइल और जोनर में बेहतरीन काम किया है। उनमें से कुछ कलाकारों ने ऑफबीट फिल्मों, अलग तरह की फिल्मों में काम किया है जबकि कुछ ने अपनी अभिनय क्षमता से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी छाप छोड़ी है। काम करने के लिये यह प्रतिभाओं का एक दिलचस्प मिश्रण है। मुझे इस बात की खुशी है कि मेरी शॉर्ट फिल्मों में ऐसे कलाकारों ने काम किया है। 

-पाखी