गुरुद्वारा चप्पड़चिडी से श्री फतेहगढ़ साहिब तक विशाल फतेह मार्च


एस. ए. एस. नगर, 12 मई (नरिंद्र सिंह झांमपुर):सिख कौम के महान जनरैल बाबा बंदा सिंह बहादर द्वारा की सरहिंद फतेह को समर्पित गुरुद्वारा फतेह जंग साहिब चप्पड़चिडी मोहाली से श्री फतेहगढ़ साहिब तक संगत के सहयोग से शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी द्वारा निहंग सिंह जत्थेबंदियों व संगतों के सहयोग से विशाल फतेह मार्च सजाया गया। अरदास उपंरात श्री गुरु गं्रथ साहिब जी की छत्र छाया व पांच प्यारों की अगुवाई में सजाए फतेह मार्च में विभिन्न निहंग सिंह जत्थेबंदियों, धार्मिक सभा सोसायटियों, बैंड व गतका पार्टियों ने खालसाई जाहो-जलाल से शमूलियत की। निहंग सिंहों द्वारा घोड़ों व हाथियारों से फतेह मार्च में बांधे खालसाई रंग ने संगतां को केंद्रित किया। फतेह मार्च की शुरूआत से पहले श्री अखंड पाठ साहिब के भोग डाले गए व सजे धार्मिक दीवान में गुरुद्वारा श्री नाडा साहिब के हजूरी रागी भाई तरलोक सिंह के जत्थे ने गुरबानी कीर्तन किया, जबकि भाई मलकीत सिंह सिंह लौंगोवाल ने ढाडी जत्थे ने बाबा बंदा सिंह बहादर द्वारा की सरहिंद फतेह के इतिहास से संगत को जोड़ा। इस मौके संगतों को संबोधित करते हुए शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष भाई गोबिंद सिंह लौंगोवाल ने कहा कि बाबा बंदा सिंह बहादर द्वारा की सरहिंद फतेह का इतिहास लासानी व प्रेरणामई है। उन्होंने कहा कि ज़ालिम मुगल हकूमत को तबाह करके खालसा राज स्थापित करने वाले सिख योद्धा बाबा बंदा सिंह बहादर ने जुलम के सताए हुए लोगों के हक में आवाज़ उठाई एवं लोगों को उनके हक दिलाए। भाई लौंगोवाल ने बाबा बंदा सिंह बहादर के जीवन से प्रेरणा लेने की अपील करते हुए कहा कि हमारे राष्ट्रीय नायकों का इतिहास ही हमारी शख्सियत को निखार सकता है। उन्होंने नगर कीर्तन में शामिल निहंग सिंह जत्थेबंदियों व विशेषकर शिरोमणि पंथ अकाली बुड्डा दल के प्रभारी बाबा बलबीर सिंह, धार्मिक जत्थेबंदियों, राजनीतिक, सामाजिक गणमान्यों व संगतों का धन्यावाद भी किया। शिरोमणि कमेटी के पूर्व अध्यक्ष प्रो. किरपाल सिंह बडूंगर ने कहा कि सरहिंद फतेह का उत्सव सिख कौम के लिए अहम है व इसके इतिहास को दुनिया के सामने रूपमान करने के लिए हर वर्ष चप्पड़चिड़ी के अस्थान से विशाल फतेह मार्च सजाया जाता है। इस मौके शिरोमणि पंथ अकाली बुड्डा दल के प्रभारी बाबा बलबीर सिंह 96 करोड़ी ने भी संगत के साथ अपने विचार सांझे किए व पंथक कार्यों के लिए हर तरह का सहयोग देने की वचनबद्धता का प्रगटावा किया। शिरोमणि कमेटी सदस्य करनैल सिंह पंजोली ने सिख नौजवानों को अपने विरसे से जोड़ने के लिए प्रेरित किया। जगह-जगह पर इस फतेह मार्च का संगतों ने स्वागत किया व गुरुद्वारा श्री फतेहगढ़ साहिब की ओर रवाना किया गया। इस मौके अकाली दल के ज़िला अध्यक्ष एनके शर्मा, रणजीत सिंह गिल्ल हलका खरड़, शिरोमणि समिति सदस्य बीबी परमजीत कौर लांडरा, तेजिंद्रपाल सिंह सिद्धू हलका मोहाली, सिमरनजीत सिंह चंदूमाजरा, हरमनप्रीत सिंह प्रिंस, निरमैल सिंह जौला, चरनजीत सिंह कालेवाल, शविंद्र सिंह सभ्रवाल, परमजीत सिंह लक्खोवाल, जत्थेदार भजन सिंह शेरगिल्ल, सुरजीत सिंह गड़ी, जत्थेदार उदय सिंह लौंगोवाल, जतिंद्रपाल सिंह जेपी, बाबा मनमोहन सिंह बारन वाले, मैनेजर अमरजीत सिंह गिल्ल, बाबा गज्जन सिंह, बाबा रघबीर सिंह खियाला, नाजर सिंह हरिया वेला, बाबा मेजर सिंह लुधियाना, बाबा लाल सिंह, बाबा तरसेम सिंह महिता, बाबा जस्सा सिंह, दिलजीत सिंह बेदी, परमजीत सिंह सरोया, सिमरजीत सिंह, कर्मबीर सिंह कियामपुर सहित बड़ी संख्या में संगतें उपस्थित थी।