भारतीय बैडमिंटन के लिए परीक्षा की घड़ी थामस उबेर कप


बैडमिंटन की दुनिया में थामस-उबेर कप एक खास मुकाम रखता है। यह वही टूर्नामैंट है, जिसके द्वारा बैडमिंटन खिलाड़ी अपना सही मूल्यांकन कर सकते हैं, क्योंकि इस प्रतिष्ठित टूर्नामैंट में चोटी के खिलाड़ी एक-दूसरे के सामने होते हैं। इसी टूर्नामैंट के द्वारा कई स्टार खिलाड़ी आगे आए हैं और इसी टूर्नामैंट ने बैडमिंटन के खेल का रुतबा अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर लगातार बढ़ाया है। थाईलैंड देश में होता थामस-उबेर कप दो हिस्सों के तहत मुकाबला करवाता है, क्योंकि थामस कप पुरुष खिलाड़ियों के लिए और उबेर कप विशेष रूप से महिला खिलाड़ियों के लिए होता है। इस बार के थामस और उबेर कप का आयोजन थाइलैंड की राजधानी बैंकाक शहर में 20 से 27 मई तक होगा। भारत के लिए हर बार की तरह इस बार भी यह टूर्नामैंट परीक्षा की घड़ी है और दुनिया के आठवें नम्बर के बैडमिंटन खिलाड़ी एच.एस. प्रणय और दुनिया की 10वीं रैंकिंग प्राप्त साइना नेहवाल थामस और उबेर कप टूर्नामैंट में भारतीय टीम का नेतृत्व करेंगे। थामस कप के लिए प्रणय के साथ दुनिया के 18वीं रैंकिंग प्राप्त बी. साई प्रणीत, नौजवान खिलाड़ी समीर वर्मा और जूनियर विश्व नम्बर 4 खिलाड़ी लक्ष्य सेन टीम में शामिल हैं। ये सभी सिंगल वर्ग में मुकाबला करेंगे। आस्ट्रेलिया के गोल्डकोस्ट में इस वर्ष हुए राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली साइना के अलावा वैष्णवी जाका रैड्डी, कृष्णा प्रिया, अरुण प्रभु और वैष्णवी भाले उबेर कप में मुकाबला करेंगी।इनके अलावा सुमित रैड्डी और मनु अत्री की जोड़ी थामस कप के पुरुष डब्ल्ज़ वर्ग में मुकाबला करेंगे। इसमें उनके साथ श्लोक रामचंद्रन-एम.आर. अर्जुन की जोड़ी, संयम-शुक्ला-अरुण जार्ज की जोड़ी हिस्सा लेंगी। उबेर कप के लिए महिला डब्लज़ वर्ग में जेमेघना, पूरविषा राम प्राजक्ता सांवत और संगीता घोरपड़े हिस्सा लेंगी। थामस कप की टीमों के लिए चुने गए सभी खिलाड़ियों की अगर बात करें तो सिंगल वर्ग में एच.एस. प्राणय, बी.साई प्रणीत, समीर वर्मा और लक्ष्य सेन शामिल हैं जबकि डब्लज़ वर्ग में इस बार लोक-रामचंद्रन-एम.आर. अर्जुन, संयम शुक्ला-अरुण जार्ज और मनू अत्री बी. सुमित रैड्डी खेल रहे हैं। उबेर कप की टीमों के लिए सिंगल वर्ग में साइना नेहवाल वैष्णवी जाका रैड्डी, कृष्णा प्रिया, अरुणा प्रभु और वैष्णवी भाले जबकि डब्लज़ वर्ग में जे. मेघना-पूरविषा, राम, प्राजकता सांवत-संयोगिता घोरपड़े शामिल हैं। पिछले दिनों भिन्न-भिन्न मुकाबलों में उत्साह भरपूर प्रदर्शन करने के बाद अब इन सभी भारतीय खिलाड़ियों की असल परीक्षा इस टूर्नामैंट से होगी और साथ ही साथ परीक्षा हो जाएगी भारतीय बैडमिंटन के उत्साह की भी।