पंजाब कैमिस्ट एसोसिएशन द्वारा संघर्ष का ऐलान


संगरूर, 8 जुलाई (अलका बांसल): पंजाब के कैमिस्टों को पेश आ रही समस्याओं की ओर सरकार द्वारा कोई ध्यान न दिए जाने कारण पंजाब कैमिस्ट एसोसिएशन ने संघर्ष का ऐलान कर दिया है। पंजाब कैमिस्ट एसोसिएशन के महासचिव सुरिन्द्र दुगल तथा सीनियर नेता राजीव जैन ने बताया कि दवाओं की ऑनलाईन हो रही विक्री तथा कैमिस्टों के कारोबार में पुलिस द्वारा की जा रही दखलअंदाजी के खिलाफ एक सप्ताह के संघर्ष का ऐलान किया गया है। उन्होंने कहा कि ड्रग एंड कास्मैटिक एक्ट अनुसार दवाओं की ऑनलाईन विक्री नहीं हो सकती। एक रजिस्टर्ड फार्मासिस्ट ही डाक्टर की पर्ची पर लिखी दवा मरीज़ को दे सकता है परंतु ऑनलाईन कंपनियों द्वारा दवाएं तो क्या लोगों के घर नशीली दवाएं भी पहुंचाई जा रही हैं। दूसरा दवाओं के कारोबार की देखरेख के लिए बकायदा ड्रग विभाग बना हुआ है परंतु पुलिस द्वारा दखलअंदाजी कर कैमिस्टों को तंग परेशान किया जा रहा है। इन मुद्दों को लेकर सो रही सरकार को जगाने के लिए 30 जुलाई को राज्य की सभी 25 हजार कैमिस्ट दुकानें मुकम्मल रूप में बंद रखी जाएंगी। 25 जुलाई से सभी दुकानों पर काले झंडे लगाए जाएंगे। 26 जुलाई को पंजाब के हर शहर में नशों के खिलाफ मोमबत्ती मार्च किए जाएंगे। 27 जुलाई को सभी दुकानें 10 से 12 बजे तक बंद रखी जाएंगी। 27 को रैलियां की जाएंगी। इस संघर्ष को लेकर सभी जिलों में जल्द ही बैठकें की जा रही हैं।