देश में नारकोटिक नशों को पकड़ने में आई तेज़ी



पटियाला, 10 जुलाई (मनदीप सिंह खरौड़): देश के नौजवानों को नशों की दलदल में धंसने से रोकने के लिए भारत सरकार बेशक प्रयास कर रही है परंतु दूसरी तरफ नशों की तादाद बड़ी संख्या में बढ़ रही है और बाहर के देशों से भी नशे गैर कानूनी तरीकों के साथ भारत में भेजे जाते हैं। 
इन घातक नशों की तादाद में विस्तार होने पीछे कई कारण हैं परंतु देश के नारकोटिक सैल की तरफ से पिछले वर्षों के मुकाबले इन नारकोटिक नशों को बड़ी मात्रा में पकड़ने में सफलता हासिल की है। प्राप्त जानकारी अनुसार नारकोटिक कंट्रोल ब्यूरो की वर्ष 2017 की रिपोर्ट के आंकड़ों के मुताबिक देश भर में से वर्ष 2015 से 2017 तक नशा बरामद करने की दर में विस्तार हुआ है। 
वर्ष 2017 में 352539 किलोग्राम गांजा देश भर में से पकड़ा गया था। जिस संबंध में 21477 व्यक्तियों पर केस दर्ज किया था। वर्ष 2016 यह संख्या 294347 किलोग्राम और 14401 व्यक्तियों पर केस चला था। वर्ष 2015 दौरान 94403 और 8130 केस दर्ज किये थे। वर्ष 2017 में हशीश नाम का नशा 3218 किलोग्राम बरामद किया गया और 2943 व्यक्तियों पर केस दर्ज किया गया था। 2016 में 2805 किलोग्राम हशीश पकड़ी गई थी और 2567 व्यक्तियों पर केस दर्ज किया था। 2015 में 3349 किलोग्राम और 2295 केस दर्ज किये था। वर्ष 2017 मे देश भर में से अफ़ीम 2551 किलोग्राम पकड़ी थी और 1408 व्यक्तियों पर केस दर्ज हुए थे। 2016 में यह संख्या 2251 किलोग्राम थी और इस संबंध में 933 व्यक्तियों पर पर्चा दर्ज किया था। वर्ष 2015 में 1687 किलोग्राम अफ़ीम पकड़ी गई थी और 860 व्यक्तियों पर केस दर्ज किया गया था। 
वर्ष 2017 हेरोइन 2146 किलोग्राम पकड़ी थी। यह संख्या वर्ष 2016 में 1675 और 2015 में 1416 किलोग्राम थी। वर्ष 2017 में ऐफेडराईन नाम का नशा 2990 किलोग्राम, वर्ष 2016 में 21272 और 2015 में 827 किलोग्राम देश में से पकड़ी गई थी।