पाकिस्तान में अकेले मरियम 


मरियम को जब पता चलेगा कि वह एक अनजान देश में अपने पिता और परिवार के बिना है, तो वह क्या करेगी? अपने दादा हुजूर, अपने अब्बू, अपनी अम्मी और बहनों से दूर किस तरह नन्ही मरियम पाकिस्तान के नये और अनजान माहौल में अकेले सब संभालेगी। किस तरह वह इस अनजान अंधेरी दुनिया में चीजों को संभालेगी जहां उसका अपना कहने वाला कोई नहीं है। हर बच्चे को नये लोगों और नये माहौल में ढलने में थोड़ा वक्त लगता है। धारावाहिक ‘मरियम खान.रिपोर्टिंग लाइव’ में 8 साल की मरियम की परवरिश अपने परिवार के एक प्यार और दुलार भरे माहौल में हुई, उसकी जिंदगी अचानक से बदलने वाली है।