परिवार के साथ बैठने का मौका देता है मनोरंजन :गीता कपूर


जानी-मानी कोरियोग्राफ र और गीता मां से प्रसिद्ध गीता कपूर   शो इंडिया के मस्त कलंदर में जज की भूमिका में नज़र आएंगी। इस शो में उनके साथ मिका सिंह भी जज बने हैं। फिल्म और टीवी कलाकार सुमित राघवन शो के होस्ट हैं। गीता कपूर इस शो को लेकर काफी उत्साहित हैं। प्रस्तुत है उनसे बातचीत के कुछ अंश—
‘इंडिया के मस्त कलंदर’ की जज बनकर कैसा लग रहा है? 
—मैं बहुत उत्सुक हूं। यह एक सामान्य फॉर्मेट है, जहां मुझे हमेशा इस बात को लेकर गंभीर रहने की जरूरत नहीं कि मंच पर क्या चल रहा है। यह मौज-मस्ती और मनोरंजन को लेकर है। इसलिये मुझे ठहाके लगाने का वाकई बहुत इंतजार है। 
आपने इससे पहले भी कई अलग-अलग शोज को जज किया है, यह शो किस तरह अलग है?
—यह बहुत अलग है क्योंकि अब तक मैंने जितने भी शो जज किये हैं, वे डांस पर आधारित थे। उनके साथ काफी गंभीरता जुड़ी हुई थी क्योंकि आपका फैसला किसी का कॅरियर, जिंदगी और सपने बना सकता था या बिगाड़ सकता था। हालांकि, यहां फैसला गंभीर है लेकिन यह लोगों को हंसने का मौका देने और किसी भी चीज को गंभीरता से नहीं लेने के बारे में है। मुझे इस शो की यही बात पसंद है। मुझे लगता है कि यह काफी रोमांचक होने वाला है। 
इस शो को हां कहने के पीछे कोई खास वजह रही?
—मैंने इस प्रोडक्शन हाउस और टीम के साथ लगभग हर तरह के शो किये हैं। पहले भी हमारे प्रोजेक्ट हेड, निकुल के साथ काम किया है। जहां तक मुझे लगता है, इसमें मेरा असली पहलू सामने आयेगा, जिसे पहले कभी कोई लेकर नहीं आया। सबने मुझे हमेशा ही डांस शो को जज करते हुए देखा है। उन्होंने देखा कि मैं ऑफ  कैमरा भी उतनी ही मस्ती करती हूं और ऑन-कैमरा भी हम मस्ती करना शुरू कर देते हैं। इसलिये, इस शो के साथ मैं दर्शकों को दिल खोलकर हंसने, बेहतरीन वक्त बिताने और मनोरंजन करने का मौका दे रही हूं। इस शो को करने का यही सबसे बड़ा कारण था। 
क्या आप डांस रियलिटी शोज से ज्यादा टैलेंट शोज को पसंद करती हैं?
—मैं ऐसे किसी भी शो को पसंद करूंगी, जोकि लोगों का मनोरंजन करते हों। हम सब मनोरंजन के व्यवसाय में हैं। इसलिये यह बेहद जरूरी है कि भले ही आप डांस शो में हों, लोगों का ध्यान खींचना ज़रूरी है। कोई भी शो जो आपका मनोरंजन करता है और आपको पूरी शाम अपने परिवार के साथ बैठने का मौका देता है तो वह अच्छा है क्योंकि आज के समय में इस चीज की सबसे ज्यादा कमी खल रही है। यदि कोई भी शो ऐसा करता है तो मुझे लगता है कि मैं उसका हिस्सा बनना चाहूंगी। यही एक चीज है जिसके होने की सबसे ज्यादा ज़रूरत है।

—पाखी