गढ़शंकर के नज़दीक कंडी नहर में आई 50 फीट दरार



गढ़शंकर, 25 सितम्बर (बस्सी): यहां कंडी नहर में बड़ी दरार पड़ने से नहर में बह रहे पानी ने नज़दीकी खेतों को अपनी चपेट में ले लिया। नहर में दरार पड़ने की घटना सुबह करीब 2 बजे हुई। चक्क रौतां से सरपंच दिलावर सिंह ने बताया कि नहर में जब दरार पड़ी तो पत्थरों के खिसकने आवाज़ सुनाई दी। उन्होंने बताया कि नहर के जिस भाग में दरार पड़ी वहां नहर का लैवल नीचा व आगे चौड़ाई के होने कारण वहां नहर का पानी जमा होने के बाद आगे बढ़ रहा था। नहर के जिस भाग में दरार पड़ी वो भाग पहले भी पानी उछलने से नकारा हो चुका है। उल्लेखनीय है कि पिछले कई वर्षों से निर्माणाधीन यह नहर अभी तक भी किसानों की सिंचाई सहूलत के लिए चालू नहीं हुई व नहर की हालत भी प्रत्येक वर्ष बिगड़ती जा रही है। बरसात के दिनों में नहर में बिना ज़रूरत से पानी छोड़ने कारण यह नहर सहूलत की बजाए लोगों के लिए आफत का कारन बन जाती है। सुबह नहर में दरार पड़ने से नहर में गांव चांदपुर रुड़की की तरफ को बढ़ रहा पानी दोबारा वापिस आ गया। नहर में चाहे पानी कम था परंतु दरार पड़ने कारण नहर के पानी ने गांव चक्क रौतां व अन्य नज़दीकी मक्की, चारे आदि के खेतों को अपनी लपेट में ले लिया। बताया जा रहा है कि सुबह माहिलपुर के गांव हल्लूवाल नज़दीक नहर में दरार पड़ने से गढ़शंकर की तरफ को आमद लगभग बंद हो गई जिस कारन गढ़शंकर नज़दीक क्षेत्र में नहर के दरार पड़ने के कारण बड़ा नुकसान होने से टल गया। नहर का पानी जारी रहने के कारण नहर के पानी की मार विभिन्न गांवों को प्रभावित करती हुई स्थानीय शहर तक पहुंच जानी थी जिससे बचाव हो गया। तहसीलदार भूपिन्दर सिंह ने बताया कि उन्होंने मौके का जायज़ा लिया है व हालात ठीक हैं। उन्होंने कहा कि माहिलपुर नज़दीक नहर में दरार पड़ने कारण यहां पानी बंद हो गया। उन्होंने कहा कि नहरी विभाग के अधिकारी पूरी स्थिति पर नज़र रख रहे हैं।