कश्मीर पर चर्चा किए बिना भारत-पाक वार्ता संभव नहीं : फवाद



इस्लामाबाद, 25 सितम्बर (वार्ता) : पाकिस्तान के सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने इस बात पर जोर दिया है कि कश्मीर मसले को शामिल किये बगैर भारत और इस्लामाबाद के बीच कोई बातचीत नहीं होगी। समाचार पत्र डॉन ने आज चौधरी के हवाले से कहा, कश्मीर के उल्लेख के बिना पाकिस्तान और भारत के बीच कोई चर्चा नहीं की जाएगी जो हमेशा से भारत और पाकिस्तान के बीच विवाद का जड़ रही है। उन्होंने कहा कि कश्मीर के मसले पर दोनों देश पिछले 70 वर्षाें से बिना किसी नतीजे के लड़ रहे हैं। श्री चौधरी ने भारतीय सेना प्रमुख बिपिन रावत के हाल के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि पाकिस्तान और भारत या तो ‘एक दूसरे को घुसपैठ और कमजोर’कर सकते हैं या फिर ‘एक-दूसरे को समझाने की कोशिश’ कर सकते हैं। उन्होंने कहा, इस मुद्दे की ओर जाने का एक तरीका यह है कि एक दूसरे के देश में घुसपैठ करना और उसे कमजोर करना। लेकिन इससे बेहतर तरीका है कि एक दूसरे को समझाने की कोशिश करना (शांति की ओर)। श्री चौधरी ने कहा, प्रधानमंत्री इमरान खान का दृष्टिकोण पाकिस्तान और भारत के लोगों के लिए बेहतर जीवन अवसर प्रदान करना है और उन्हें गरीबी रेखा से ऊपर ले जाना है। हर कोई जानता है कि देश तब तक सफल नहीं होते हैं जब तक कि उसके क्षेत्र तरक्की नहीं करते।