अवैध संबंधों के संदेह पर पत्नी का किया कत्ल


एस.ए.एस. नगर, 11 अक्तूबर (अ.स.) : थाना बलौंगी स्थित आदर्श कालोनी की रहने वाली एक महिला को नाजायज़ संबंधों के संदेह कारण उसके पति द्वारा सिर में डंडा मारकर उसका कत्ल कर दिया गया है। मृतका की पहचान अंजू कुमारी (40) के रूप में हुई है, जबकि पति गोरख लाल पत्नी का कत्ल करने पश्चात खुद ही थाने पहुंच गया और पुलिस को सारी कहानी बताई।  उधर, घटना की जानकारी मिलते ही थाना बलौंगी के प्रभारी मनफूल सिंह पुलिस पार्टी सहित मौके पर पहुंचे और घटना का जायज़ा लिया। पुलिस ने शव को कब्ज़े में लेकर शवगृह में रखवा दिया है। प्राप्त जानकारी अनुसार अंजू कुमारी और उसकी छोटी लड़की घर में मौजूद थे, जबकि दूसरी लड़की व लड़का स्कूल गए थे तथा बड़ा लड़का नीतिन, जोकि काल सैंटर में कार्य करता है, वहां गया हुआ था। इस दौरान गौरख लाल, जोकि कोरियर कम्पनी में कार्य करता था, घर आया और उसकी पत्नी अंजू कुमारी के साथ बहस शुरू हो गई। वह काफी देर तक आपस में बहस करते रहे। इस दौरान छोटी लड़की, जोकि घर में ही थी, छत्त पर कपड़े डालने के लिए चली गई। गौरख लाल ने दरवाज़े को अंदर से कुंडी लगा ली और दोनों पति-पत्नी में झगड़ा शुरू हो गया। झगड़ा इतना बढ़ गया कि शाम लाल ने घर में पड़ा बांस का डंडा अपनी पत्नी अंजू कुमारी के सिर में दे मारा। जब अंजू कुमारी खून से लथपथ होकर फर्श पर गिरी तो गोरख लाल ने उसको उठाने की कोशिश की, परंतु वह दम तोड़ चुकी थी। गोरख लाल कुछ देर तक शव के पास बैठा रहा, बाद में वह खुद ही थाने पहुंच गया और कत्ल की बात कबूल ली। पुलिस अनुसार मृतका सिलाई-कढ़ाई का कार्य करती थी।  उधर, गोरख लाल, जोकि पुलिस हिरासत में है, ने बताया कि उसकी पत्नी के किसी के साथ नाजायज़ संबंध थे, उस द्वारा कई बार उसको समझाया गया, लेकिन वह उसके कहने से बाहर थी। इस संबंधी थाना बलौंगी के प्रभारी मनफूल सिंह ने बताया कि पति गोरख लाल ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है, पुलिस ने गोरख लाल खिलाफ कत्ल का मामला दर्ज कर उसको गिरफ्तार कर लिया है, शुक्रवार को उसको अदालत में पेश किया जाएगा। बच्चों की कौन करेगा देखभाल : मृतका के पड़ोसी भी इस घटना को लेकर हैरान थे और मृतका के बच्चों को आश्वासन दे रहे थे कि जल्द उनकी मां आ जाएगी। पड़ोसियों अनुसार मां का कत्ल हो गया, पिता अंदर हो गया, बच्चों को इसकी सज़ा नहीं मिलनी चाहिए। उन्होंने बताया कि फिलहाल बच्चे उनके पास ही रहेंगे, परंतु आने वाले समय में बच्चों की देखभाल के लिए वह भी चिंतत थे, विशेषकर दोनों लड़कियों के लिए, जोकि अभी स्कूल में पढ़ती हैं।