हादसे में मारे गये ज्यादातर लोग प्रवासी कामगार


अमृतसर : तेज गति ट्रेन की चपेट में आये ज्यादातर लोग उत्तर प्रदेश और बिहार के प्रवासी कामगार थे। एक अधिकारी ने शनिवार को यहां यह जानकारी दी। ज़िला प्रशासन में एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि उत्तर प्रदेश और बिहार के ज्यादातर प्रवासी कामगार दुर्घटनास्थल से कुछ ही दूरी पर एक औद्योगिक क्षेत्र में काम करते थे और निकटवर्ती क्षेत्र में रहते थे। अधिकारी ने कहा कि प्रारंभिक रिपोर्टों के अनुसार हादसे में मारे गये ज्यादातर लोग उत्तर प्रदेश और बिहार के प्रवासी कामगार थे और वे अपनी आजीविका कमाने के लिए औद्योगिक क्षेत्र में काम कर रहे थे। अधिकारी ने हालांकि मृतकों के बारे में विस्तृत विवरण नहीं दिया क्योंकि 20 शवों की अभी पहचान की जानी बाकी है। हादसे में घायल हुए उत्तर प्रदेश के हरदोई के रहने वाले 40 वर्षीय मज़दूर जगुनंदन ने कहा कि वह रेल पटरी के निकट नहीं खड़ा था लेकिन रावण का पुतला दहन होने के बाद वह पीछे हट गया था क्योंकि लोगों ने मुख्य स्टेज की ओर भागना शुरू कर दिया था। चार बच्चों के पिता जगुनंदन को उसका एक रिश्तेदार अस्पताल लेकर आया।