सिंध में 11 वर्षीय हिन्दू लड़की का अपहरण



अमृतसर, 23 अक्तूबर (सुरिन्द्र कोछड़) : पाकिस्तान के प्रांत सिंध में मतियारी ज़िले के हाला शहर से अगवा की गई 11 वर्षीय हिन्दू नाबालिग लड़की मोनिका लूहानो को अगवा किए जाने के चार दिन बाद भी पुलिस उसकी तलाश नहीं कर सकी और न ही अभी तक किसी आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। इस मामले को लेकर पुलिस द्वारा जांच की जा रही देरी को लेकर ज़िला मतियारी के हिन्दू भाईचारे ने मुकम्मल तौर पर कारोबार बंद रखकर पुलिस प्रशासन के विरुद्ध रोष प्रदर्शन किया। हिन्दू भाईचारे के एक प्रतिनिधि ने इस बारे में चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि पुलिस द्वारा जांच में की जा रही देरी के चलते मोनिका का धर्म परिवर्तन करवाकर उसे विवाह के लिए मजबूर किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि यदि ऐसी कार्रवाई हुई तो प्रांत में व्यापक विरोध प्रदर्शन किया जाएगा।
मोनिका को गत 19 अक्तूबर को सुबह उसके घर से चार युवकों ने हथियारों के बल पर अगवा किया था। उसके भाई पुशपाल लुहानो ने एफ.आई.आर. में मुश्ताक मुहार जोकि सरकारी स्कूल अध्यापक का बेटा है, सहित तीन अन्यों पर उसकी बहन को अगवा किए जाने का आरोप लगाते हुए बताया कि घर के अंदर घुसते ही उक्त अपहरणकर्ताओं ने घर को घेर लिया और हथियारों के बल पर मोनिका को गली से घसीटते हुए अपने साथ ले गए। उधर प्रांत के अल्पसंख्यक मामलों, सामाजिक भलाई व खाद्य मंत्री हरी राम किशोरी लाल ने मोनिका लुहानो को अगवा किए जाने की कार्रवाई का कड़ा नोटिस लेते हुए अगले दो दिन के भीतर हैदराबाद पुलिस के डी.आई.जी. को उसका पता लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने मोनिका के परिवार को भरोसा दिलाया कि प्रांत सिंध सरकार जल्द ही मोनिका की तलाश कर लेगी और उसे अगवा करने वाले आरोपियों को उचित सज़ा दी जाएगी।