केजरीवाल के तानाशाही रवैये ने राज्य से खत्म की ‘आप’ : सुरेश शर्मा


अमृतसर, 4 नवम्बर (अमन मैनी) : बीते कल आम आदमी पार्टी द्वारा अपने 2 विधायकों सुखपाल सिंह खैहरा और कंवल संधू को निलंबित किए जाने के बाद आज अमृतसर में पी.ए.सी. सदस्य सुरेश शर्मा की अध्यक्षता में बड़ी संख्या में वर्करों ने आम आदमी पार्टी को अलविदा कहते हुए सभी मैंबरशिप से इस्तीफा दे दिया है। इस मौके सुरेश शर्मा ने कहा कि आम आदमी पार्टी जिसको पंजाब के वर्करों ने अपनी कड़ी मेहनत से खड़ा किया था, लेकिन अफसोस है कि पार्टी हाईकमान और अरविंद केजरीवाल ने अपने तानाशाही रवैय्ये कारण पंजाब में से आम आदमी पार्टी को खत्म कर दिया है। शर्मा ने कहा कि आम आदमी पार्टी का पंजाब में नाश होने का कारण केवल हाईकमान ही है। शर्मा ने कहा कि आम आदमी पार्टी को विधानसभा चुनाव समय पंजाब हितैशी एन.आर.आई. लोगों ने करोड़ों रुपए फंड भेजा था, जिसका हिसाब दिल्ली हाईकमान ने आज तक नहीं दिया है। शर्मा ने बताया कि सुखपाल खैहरा ने पांच सदस्यीय कमेटी बनाकर पार्टी में एकता के हरसंभव प्रयास किए लेकिन पार्टी हाईकमान समझी नहीं। उन्होंने बताया कि आज पार्टी से इस्तीफा देने में मुख्य तौर पर प्रगट सिंह चौगावां, जसविंदर सिंह जहांगीर, मानव चांडे, संजीव लांबा, अशोक कुमार, प्रदीप तेजी, नरिंदर मरवाहा, दीक्षित धवन, कुलदीप गिल, प्रदीप रामपाल व अन्य शामिल हैं।