बोर्ड की वार्षिक परीक्षाएं मार्च के प्रथम सप्ताह से शुरू


एस.ए.एस.नगर, 6 दिसम्बर (तरविंद्र सिंह बैनीपाल) : पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा 2018-19 सैशन की 10वीं व 12वीं की वार्षिक परीक्षाएं मार्च के प्रथम सप्ताह से शुरू होंगी। परिक्षार्थियों और स्कूल अध्यापकों की मांग पर इस वर्ष सबसे पहला पेपर पंजाबी विषय का होगा और परीक्षाओं को पारदर्शी, नकल मुक्त व सरल माहौल में करवाने के लिए व्यापक प्रबंध किए जा रहे हैं। ओपन स्कूल के परीक्षार्थियों के लिए विशेष केन्द्र बनाकर पक्का आबजर्वर लगाया जाएगा, जबकि 2 पुलिस कर्मचारियों की परीक्षा केन्द्र के गेटों पर विशेष ड्यूटी लगाई जाएगी। उक्त विचार पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड के चेयरमैन मनोहर कांत कलोहीया ने बोर्ड आफ डायरेक्टर की बैठक पश्चात पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए व्यक्त किए। उन्होंने बताया कि आज की रिपोर्ट अनुसार 10वीं कक्षा के 7,734 स्कूलों के 3,26,897 रेगूलर विद्यार्थियों में से 3,20,990 विद्यार्थियों की परीक्षा फीस बोर्ड के पास जमा हो चुकी है। 12वीं कक्षा के लिए 4,039 सैकेंडरी स्कूलों में 2,75,120 विद्यार्थियों में से 2,71,134 विद्यार्थियों की परीक्षा फीस जमा हो चुकी है। इसी तरह 10वीं कक्षा ओपन स्कूलों के 24,614 विद्यार्थियों और 12वीं कक्षा के 22,920 विद्यार्थियों की परीक्षा फीस जमा हो चुकी है। उन्होंने बताया कि बोर्ड परीक्षाएं नकल मुक्त करवाने के लिए उनके द्वारा सरहदी क्षेत्र के सभी स्कूल प्रभारियों और इन ज़िलों के डिप्टी कमिश्नरों के साथ बैठकें की जा रही हैं। इस वर्ष वार्षिक परीक्षाओं दौरान प्रत्येक स्कूल में से 60 प्रतिशत अध्यापकों की ही ड्यूटियां लगाई जाएंगी। उन्होंने बताया कि बोर्ड यूनियन की मांग अनुसार गत् वर्ष कर्मचारियों की हड़ताल दौरान 6 दिनों का काटा वेतन कर्मचारियों की छुट्टियां काटकर रिलीज़ करने का फैसला करने के अलावा बोर्ड के रिहायशी कालोनी के कर्मचारियों से बोर्ड की बिल्डिंग की मुरम्मत के लिए ली जाती 10 प्रतिशत राशि को घटा कर 5 प्रतिशत कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि बोर्ड का कार्यालय यूनियन नेताओं के लिए खोल दिया गया है, यूनियन नेताओं को सुबह 2 घण्टे यूनियन कार्यालय में बैठकर यूनियन के कार्य देखने की आज्ञा दी गई है। बोर्ड आफ डायरेक्टज़र् की बैठक में शिक्षा बोर्ड के वाईस चेयरमैन बलदेव सचदेवा, बोर्ड सचिव प्रशांत कुमार गोयल, डीपीआई इंद्रजीत सिंह और राजेश कुमार डायरेक्टर शक्षा विभाग शामिल हुए।