भारतीय सेना को मिले 347 नए अधिकारी


देहरादून, 8 दिसम्बर (कमल शर्मा ): भारतीय सैन्य अकादमी (आईएमए) में आयोजित पासिंग आऊट परेड में जेंटलमैन कैडेट्स ने जैसे ही अंतिम पग पार किया वह खुशी से झूम उठे। पांसिग आउट परेड की सलामी उप सेना प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल देवराज अंशु ने ली। परेड में मित्र देशों के 80 कैडेट्स सहित कुल 427 जेंटलमैन कैडेट्स ने भाग लिया। भारतीय सेना को इस बार कुल 347 अधिकारी मिले हैं। इस बार भी उत्तर प्रदेश से 53, हरियाणा के 51 और उत्तराखण्ड से 26 युवाओं को सेना में अधिकारी बनने का मौका मिला। इस अवसर को खास बनाने के लिए हर साल की तरह भारतीय सैन्य अकादमी को लाइट और साउंड के जरिए भव्य तरीके से सजाया गया था। सेना में अधिकारी बनने का इंतजार कर रहे इन वीर सपूतों को आज सुबह परेड के दौरान कदम ताल करते देख सभी के सीने गर्व से फूले हुए थे। ऐतिहासिक चेटवुड बिल्डिंग के सामने आयोजित ड्रिल स्वायर पर कदम ताल करते जोशीले जवानों को देखकर वहां मौजूद जवानों के अभिभावक भी फूले नहीं समा रहे थे। परम्परा के अनुरूप आज पासिंग आउट परेड का हिस्सा बनने वाले इन कैडेट्स ने परेड से पहले शहीद सैन्य अफसरों की जांबाजी से प्रेरणा लेते हुए आईएमए के वार मेमोरियल पर शहीद सपूतों को श्रद्धांजलि अर्पित की। मौके पर मौजूद परिजनों के लिए यह क्षण अत्यन्त ही भावुकता से भरा था। जब वह अपने लाडलों के कंधे पर सितारे सजा रहे थे। इस इस दौरान हैलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा भी की गई। पासिंग आउट परेड के दौरान सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए थे। चप्पे चप्पे पर पुलिस की पैनी निगाह बनी हुई थी।