पंजाब छोड़ केन्द्र की राजनीति में नहीं जा रहा हूं : सिद्धू


संगरूर/बरनाला, 15 जनवरी (सत्यम/विजय भंडारी/ नरेन्द्र अरोड़ा/ योगराज योगी/ राजेन्द्र बांसल): पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने स्पष्ट किया है कि वह पंजाब को छोड़कर केन्द्र की सियासत में नहीं जा रहे। आज यहां लोक निर्माण मंत्री विजयइंद्र सिंगला के निवास पर पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि उनके लिए पंजाब ही सब कुछ है और पंजाब छोड़कर केन्द्र की सियासत में जाने का कोई इरादा नहीं। करतारपुर गलियारे के मुद्दे बारे उन्होंने कहा कि वह भारत सरकार व पाकिस्तान सरकार को पत्र लिख रहे हैं कि करतारपुर साहिब की मूल रूपरेखा पहले की तरह ही बरकरार रखी जाए और इसे कंक्रीट का शहर न बना दिया जाए। वहीं पाकिस्तान क्षेत्र में 104 एकड़ ज़मीन में विरासती रूपरेखा होनी चाहिए। होटल आदि दूर बनाए जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि हो सकता है कि वह इस मुद्दे के लिए खुद भी जाकर बात करें। सिद्धू ने कहा कि स्थानीय निकाय विभाग को पंजाब के सभी शहरों के समूचे विकास के लिए योजना बनाने पर 7 माह लग गए। अब राज्य के अन्य शहर की कायाकल्प होगी। इस मकसद के लिए विभिन्न स्रोतों से 2 हज़ार करोड़ रुपए हासिल किए गए हैं, जिन पर डेढ़ प्रतिशत ब्याज लगेगा और 30 वर्ष में वापिसी होगी। सिद्धू ने बताया कि स्थानीय निकाय विभाग से संबंधित 67 सेवाएं इस वर्ष जून तक आनलाइन कर दी जाएंगी। उन्होंने कहा कि पंजाब के 80 प्रतिशत घरों के नक्शे स्वीकार नहीं हैं। इनके लिए भी उचित कदम उठाए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि उनके विभाग में 1500 कर्मचारियों की नई भर्ती की जाएगी ताकि विकास कार्य तेज़ी से निपटाए जा सकें। इस अवसर पर अजय शर्मा आई.ए.एस. चीफ एग्जैक्टिव अधिकारी पंजाब वाटर सप्लाई एंड सीवरेज बोर्ड, करनेश शर्मा डायरैक्टर स्थानीय निकाय विभाग, डिप्टी कमिश्नर संगरूर घनश्याम थोरी, ज़िला पुलिस प्रमुख डा. संदीप गर्ग, मालविंदर सिंह जग्गी डायरैक्टर सभ्याचारक मामले, नवजोत सिद्धू के ओएसडी रुपिंदर सिंह संधू, ब्लॉक अध्यक्ष परमिंदर शर्मा, महेश कुमार मेसी, कुलवंत सिंगला व नत्थू लाल ढींगरा भी उपस्थित थे। वहीं दूसरी ओर पंजाब प्रदेश कांग्रेस समिति के मीत प्रधान स. केवल सिंह ढिल्लों के ग्रह में प्रैस कान्फ्रैंस के दौरान स. सिद्धू ने कहा कि पंजाब को महाराजा रणजीत सिंह के राज जैसा प्रदेश बनाना मेरा सपना है और इस काम को पूरा करने के लिए मैं अपनी देह सूबे को अर्पित करता हूं। 
करतारपुर गलियारे में भारत वाले तरफ से हो रही देरी संबंधी पूछे जाने पर स. सिद्धू ने कहा कि भारत सरकार की कुछ मंजूरियां बाकी रहती हैं, मंजूरी मिलते ही जमीनें एक्वायर करके काम शुरू हो जायेगा। 
इस अवसर स. केवल सिंह ढिल्लों, करन ढिल्लों, मक्खन शर्मा, सुखजीत कौर सुखी, रूपी कौर, डिम्पल उपली, हैपी ढिल्लों, डा. बलवीर सिंह संघेड़ा, वरुण बत्ता, बलदेव सिंह भुच्चर व दीप संघेड़ा व अन्य उपस्थित थे।