हिमाचल का चिंतपूर्णी मंदिर रेल लिंक से जुड़ा


अम्ब/गौंदपुर बनेहड़ा/ मरवाड़ी/ दौलतपुर चौक, 15 जनवरी (आशुतोष. शर्मा, आर.के. शर्मा, पराशर) : उत्तर भारत के सबसे व्यस्त धार्मिक स्थलों में से एक हिमाचल प्रदेश के ऊना जिला में स्थित माता चिंतपूर्णी मंदिर को रेल लाइन से जोड़ दिया गया। केंद्रीय रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने आज ऊना ज़िला के अंब अंदौरा रेलवे स्टेशन से दौलतपुर चौक वाया चिंतपूर्णी मार्ग तक 16 किलोमीटर नव निर्मित रेल लाइन को देश व प्रदेश वासियों को समर्पित किया। उन्होंने अंब अंदौरा रेलवे स्टेशन से दौलतपुर चौक के लिए रेलगाड़ी को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया तथा स्वयं रेलगाड़ी से सफ र करते हुए दौलतपुर चौक पहुंचे। दौलतपुर चौक पहुंचते ही स्थानीय लोगों ने केंद्रीय रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा का बड़ी ही गर्मजोशी के साथ स्वागत किया। इससे पहले उन्होंने अंब अंदौरा रेलवे स्टेशन से अंब अंदौरा स्टेशन पर विस्तारित प्लेटफ ॉर्म संख्या एक, ऊना हिमाचल स्टेशन पर नई द्वितीय श्रेणी विश्रामालय का भी राष्ट्र को समर्पण किया। इसी दौरान उन्होंने अंब अंदौरा स्टेशन पर नया पैदल पार पथ, ऊना हिमाचल स्टेशन पर नया पैदल पार पथ एवं प्लेटफार्म संख्या-दो तथा अम्ब अंदौरा-दौलतपुर चौक सेक्शन के विद्युतीकरण कार्य का भी शिलान्यास किया। साथ ही 14553/14554 दिल्ली-अंब अन्दौरा-दिल्ली हिमाचल एक्सप्रेस तथा 54581/54582 नंगल डैम-अंब अन्दौरा-नंगल डैम पैसेंजर रेलगाड़ी का दौलतपुर चौक तक के विस्तार का भी शुभारंभ किया। इस दौरान ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज मंत्री वीरेंद्र कंवर, लोक सभा सांसद अनुराग ठाकुर, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती, विधायक बलवीर चौधरी तथा राजेश ठाकुर भी विशेष तौर पर उपस्थित रहे। इस अवसर पर बोलते हुए केंद्रीय रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने कहा कि इस रेल नेटवर्क को वर्ष 1982 में स्वीकृति प्रदान की थी तथा 16 बड़े पुलों का निर्माण करते हुए इस पर लगभग 335 करोड़ रुपए व्यय किए गए हैं। उन्होंने कहा कि वर्ष 2022 तक इस रेल नेटवर्क को मुकेरियां-तलवाड़ा तक पूरा करेंगे। उन्होंने कहा कि मुकेरियां-तलवाड़ा रेल नेटवर्क के विस्तार पर लगभग दो सौ करोड़ रुपये व्यय किए जाएंगे तथा अगले दो माह के भीतर इसकी टैंडर प्रक्रिया को पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश के अधिकतर हिस्से में जमीन अधिग्रहण पूर्ण कर लिया है, जबकि पंजाब क्षेत्र में भी जल्द भूमि अधिग्रहण कार्य को पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि दौलतपुर चौक को रेलवे सुविधा से जुड़ जाने के कारण जहां इस क्षेत्र के विकास के साथ-साथ सामाजिक आर्थिक विकास को भी गति मिलेगी। इस रेल लाइन पर कुनेरन गांव में पड़ने वाले एक स्टेशन का नाम चिंतपूर्णी मार्ग रखा गया है क्योंकि यह चिंतपूर्णी मंदिर के सबसे करीब है, जहां पंजाब, हरियाणा, उत्तराखंड, दिल्ली और उत्तर प्रदेश के ज्यादातर तीर्थयात्री आते हैं। यह मंदिर रेलवे स्टेशन से 25 किलोमीटर दूर स्थित है, जहां सड़क मार्ग से पहुंचा जा सकता है।