पटियाला में अध्यापकों पर भांजीं लाठियां


पटियाला, 10 फरवरी (परगट सिंह बलबेड़ा): अलग-अलग अध्यापक संगठनों की ओर से बनाई गई अध्यापक संघर्ष कमेटी के आह्वान पर नेहरू पार्क में धरने के बाद मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह की रिहायश घेरने जा रहे अध्यापकों पर बैरीगेड तोड़ने दौरान पुलिस ने लाठीचार्ज किया और पानी की बौछारें की गई। इस दौरान कई अध्यापक ज़ख्मी हो गए और कुछ महिला अध्यापक बेहोश हो गई। कई पुलिस अधिकारी भी ज़ख्मी हुए। अध्यापक संघर्ष कमेटी ने मुख्यमंत्री की तरफ से बार-बार बैठक करने का भरोसा देकर बाद में मुकरने से खफा अध्यापकों ने धरने के बाद रोष रैली के रूप में मोती महल की तरफ कूच किया था। जिसको पुलिस प्रशासन ने कई स्थानों पर रोकने का प्रयास किया परन्तु अध्यापक कई बैरीकेड तोड़ते हुए मोदी कालेज नज़दीक लगाए गए बैरीकेड रोक के पास पहुंचे और बैरीगेड तोड़ने दौरान पुलिस ने पहले पानी की बौछारों के साथ अध्यापकों को आगे बढ़ने से रोका और जब अध्यापक फिर भी आगे बढ़ते गए तो पुलिस ने लाठीचार्ज किया। एक घंटे से अधिक समय चले इस घटनाक्रम दौरान पानी के प्रैशर के साथ कई महिला अध्यापक सड़क पर गिरी। इस दौरान डिप्टी कमिश्नर कुमार अमित और ज़िला पुलिस प्रमुख मनदीप सिंह सिद्धू भी स्थिति का जायज़ा लेने मौके पर पहुंचे। पुलिस प्रशासन का नेतृत्व कर रहे एस.पी. (सीटी) केसर सिंह ने काफी मशक्कत के बाद अध्यापकों को शांत करवाया और खुद अध्यापकों के बीच जाकर बातचीत करने की अपील की और अध्यापक संघर्ष कमेटी के नेताओं की डीसी और एस.एस.पी. के साथ बैठक करवाई। इस मौके अध्यापक संघर्ष कमेटी के नेताओं ने बैठक के बाद धरने में दोबारा पहुंच कर ऐलान किया कि ज़िला प्रशासन के साथ की बैठक दौरान उनको कोई पक्का भरोसा नहीं मिला और यह संघर्ष जारी रखा जाएगा।