दुष्कर्म मामला : ननों द्वारा मुलक्कल पर जालन्धर डायोसिस के कामकाज में हस्तक्षेप का आरोप


कोट्टायम (केरल), 10 फरवरी (भाषा) : दुष्कर्म के आरोप का सामना कर रहे बिशप फ्रैको मुलक्कल के खिलाफ प्रदर्शन कर रही ननों ने रविवार को कहा कि वह अब भी रोमन कैथोलिक चर्च के जालन्धर डायोसिस के प्रशासनिक काम-काज में दखल दे रहे हैं। मुलक्कल को पोप फ्रांसिस ने चर्च के सभी कार्यों से मुक्त कर दिया है। प्रदर्शन कर रही ननों का प्रतिनिधत्व करने वाली सिस्टर अनुपमा ने बताया कि हमारा विश्वास है कि बिशप एंजेलो जालन्धर डायोसिस के प्रशासक हैं, लेकिन जब हम डायोसीस के पीआरओ और जीसस कॉन्ग्रिगेशन प्रमुख के साथ पत्राचार को देखते हैं तो हमें शक होता है कि बिशप फैंको के पास अब भी शक्तियां हैं। दरअसल ननों का यह बयान जालन्धर डायोसिस के पीआरओ फादर पीटर कुवमपुरम की ओर से जारी बयान के एक दिन बाद आया है। कुवमपुरम कथित तौर पर बिशप मुलक्कल के करीबी हैं। दरअसल बिशप एंजेलो रूफीनो ग्रासियस की ओर से ननों को जारी एक ईमेल पर स्पष्टीकरण देते हुए कुवमपुरम ने एक बयान दिया था।