10 मई को खुलेंगे श्री बद्रीनाथ धाम के कपाट


ऋषिकेश, 10 फरवरी (दीपक नारंग): श्री बद्रीनाथ धाम के कपाट 10 मई को विधि-विधान के साथ ब्रह्ममुहूर्त में 4 बजकर 15 मिनट पर खुलेंगे। यह तिथि बसंत पंचमी पर नरेंद्र नगर राजमहल में पूजा-पाठ के बाद ग्रह नक्षत्रों को देखते हुए तीर्थ पुरोहितों ने राजपरिवार की उपस्थिति में घोषित की। ग्रह नक्षत्रों को देखते हुए पुरोहितों ने राजपरिवार से विचार-विमर्श किया। जिसके बाद राजा मनुजेंद्र शाह की उत्तराधिकारी रानी सीरजा ने कपाट खुलने की तिथि घोषित की। बताया कि श्री बद्रीनाथ धाम के कपाट 10 मई को 4 बजकर 15 मिनट के शुभ मुहूर्त पर खोले जाएंगे। बता दें कि नरेंद्रनगर राजघराने से गाडू घड़ा (तेल कलश) बदरीनाथ पहुंचाया जाता है। इसी तेल से भगवान बदरीनाथ का दीपक जलाया जाता है। जिसके बाद विधि विधान से बदरीनाथ के कपाट खोले जाते हैं। बताया कि 24 अप्रैल को राजमहल से तेल कलश यात्रा बद्रीनाथ के लिए निकलेगी। बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने की ऐसी परंपरा है कि बसंत पंचमी के दिन ही यह तय किया जाता है कि मंदिर के कपाट किस दिन खुलेंगे और शुभ मुहूर्त क्या होगा। इस अवसर पर सांसद माला राज्य लक्ष्मी शाह, राजकुमारी श्रृजा श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति अध्यक्ष मोहन प्रसाद रावल, ईश्वारा प्रसाद नंबूदरी, धर्माधिकारी भुवन उनियाल, पं. कृष्ण प्रसाद उनियाल, मुख्यकार्यकारी बीडी सिंह व अन्य उपस्थित थे।